स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

रेलवे जमीन सीमांकन को लेकर कांग्रेस ने उठाए सवाल

Sanjay Kumar Dandale

Publish: Dec 11, 2019 17:43 PM | Updated: Dec 11, 2019 17:43 PM

Chhindwara

रेल विभाग द्वारा परासिया से शिवपुरी तथा बडक़ुही तक रेलवे जमीन का सीमांकन कराए जाने को लेकर विधायक सोहन बाल्मीकि ने नाराजगी व्यक्त करते हुए विभाग की कार्रवाई पर सवाल उठाया है।

छिंदवाड़ा/परासिया/ रेल जमीन सीमांकन के विरोध में कांग्रेस शुक्रवार को ज्ञापन सौपेंगी। रेल विभाग द्वारा परासिया से शिवपुरी तथा बडक़ुही तक रेलवे जमीन का सीमांकन कराए जाने को लेकर विधायक सोहन बाल्मीकि ने नाराजगी व्यक्त करते हुए विभाग की कार्रवाई पर सवाल उठाया है।
विधायक ने बताया कि रेल विभाग द्वारा बिछाई गई नैरोगेज रेल पटरी कई दशक पूर्व उखाड़ी जा चुकी हैं। सीमांकन कराए जाने वाले वाले स्थलों पर रेल विभाग का कोई ढांचा या संपत्ति नहीं है। अतिक्रमण के समय रेलवे द्वारा कोई आपत्ति नहीं ली गई। यहां पर लोगों ने मकान और दुकानें बना ली हैं इसके अलावा नगर पालिका परासिया, चांदामेटा, बडक़ुही ने करोड़ों रुपए खर्च कर आम लोगों की सुविधा के लिए सडक़ए पुलिया नालीए पाइपलाइन जैसी सुविधाऐ प्रदान की हैं।
रेल विभाग द्वारा जमीन की आवश्यकता के संबंध में स्पष्ट रूप से कोई जानकारी नहीं दी जा रही हैए उन्होंने कहा कि उन्हें जो जानकारी मिली है उसके अनुसार निजी कोल ब्लॉक को कोयला परिवहन के लिए फायदा पहुंचाने के लिए ब्रॉडगेज का विस्तार किया जा रहा है। एकमात्र कंपनी के लिए हजारों लोगों को नुकसान पहुंचाने की बात कभी स्वीकार नहीं की जाएगी इसलिए ब्लॉक कांग्रेस के नेतृत्व में 13 दिसंबर को रेलवे स्टेशन परासिया में रेल अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा जाएगा और सीमांकन कार्रवाई कार्रवाई निरस्त करने की मांग की जाएगी। पत्रकार वार्ता में रईस खान जमील खान, हरि वर्मा भी उपस्थित रहे।
गौरतलब हैकि नवम्बर के प्रथम सप्ताह में होने वाले सीमांकन की प्रक्रिया जिला कलेक्टर ने धारा 144 सहित अन्य स्थितियों के कारण स्थगित कर दिया था लेकिन पुन: सीमांकन की सुगबुगाहट से इलाके में राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई है।

[MORE_ADVERTISE1]