स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

health: मध्यभारत का सबसे बड़ा मेडिकल कॉलेज रचेगा कई नए कीर्तिमान, इसलिए होगा खास

Dinesh Sahu

Publish: Nov 19, 2019 11:38 AM | Updated: Nov 19, 2019 11:38 AM

Chhindwara

तीस माह में 31 लाख वर्ग मीटर पर तैयार होगा सिम्स हॉस्पिटल, नौ मंजिला भवन में मिलेगी कई आधुनिक सेवाएं तथा सुविधाएं

छिंदवाड़ा/ चिकित्सा के क्षेत्र में जिले में नई इबारत गढ़ी जा रही है, जिसका लाभ छिंदवाड़ा, बैतूल, नरसिंहपुर, सिवनी सहित महाराष्ट्र के लोगों को मिलेगा। छिंदवाड़ा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस का नौ मंजिला 1200 बिस्तरों का सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल 31 लाख वर्ग मीटर क्षेत्र में 30 महीने में तैयार होगा, जिसकी लागत करीब 1450 करोड़ बताई जाती है। अनुबंध के आधार पर कम्पनी तीन माह में भवन की डिजाइन तथा शेष 27 माह में निर्माण कार्य पूरा करेगी।

चिकित्सा अधिकारियों का दावा है कि आकार और प्रकार में यह मध्य भारत का सबसे बड़ा अस्पताल होगा, जिसमें देश तथा विदेश की आधुनिक तकनीकी सुविधाएं मौजूद रहेगी। मुख्यमंत्री कमलनाथ 20 नवम्बर 2019 को इसकी आधारशिला रखेंगे। बताया जाता है कि मुंबई के शापूरजी पालोनजी इंजीनियरिंग एंड कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड कम्पनी द्वारा हॉस्पिटल तैयार किया जाएगा।

इनकी भी मिलेगी सुविधाएं -

1. वर्तमान में मेडिकल कॉलेज संचालित है। इसके साथ ही नर्सिंग और पैरामेडिकल कॉलेज की सुविधाएं भी मिल सकेगी।
2. कार्डियोलॉजी, न्यूरोलॉजी, सुपर स्पेशलिटी, सीटीपीएस सहित कई गंभीर रोगों का हो सकेगा उपचार तथा दिल्ली एम्स की तरह रहेगी व्यवस्थाएं।

3. एयर एंबुलेंस के लिए हॉस्पिटल की छत पर हैलीपेड बनाया जाएगा। बता दें कि इस सेवा के लिए मुख्यमंत्री पूर्व में घोषणा कर चुके है।

4. एमआरआइ, कलर डॉप्लर, अल्ट्रासांउड, इको सहित कई महंगी जांचों की सुविधा मिल सकेगी। फिलहाल कुछ मशीनें स्थापित हो गई है तथा कुछ प्रक्रियाधीन है।


ऐसे जानें निर्माण की स्थिति -

1. सीनियर डॉक्टरों के निवास के लिए - 66 वन बीएचके फ्लेट होंगे तैयार

2. सीनियर नर्सों के निवास के लिए - 20 टू बीएचके फ्लेट तैयार होंगे।
3. स्टाफ रेसीडेंस के निवास के लिए - 112 थ्री बीएचके फ्लेट तैयार होंगे

4. स्टाफ रेसीडेंस के निवास के लिए - 152 टू बीएचके फ्लेट तैयार होंगे।

5. नौ मंजिला बिल्डिंग में वार्ड, ओपीडी, ओटी सहित अन्य कई विभाग होगा तैयार।
6. प्रशासनिक व्यवस्था के लिए आरक्षित होगा एक फ्लोर

[MORE_ADVERTISE1]