स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Banking : व्यापारिक सीमा तय कर अब ऋण भी देगा सहकारी बैंक

Rajendra Sharma

Publish: Sep 22, 2019 09:08 AM | Updated: Sep 22, 2019 01:07 AM

Chhindwara

शाखा प्रबंधकों को क्रियान्वयन के दिए गए निर्देश

छिंदवाड़ा/ जिला सहकारी बैंक अब अपने कार्य को विस्तार देने में लगा है। बैंक अब अपने अमानतदारों और खातेदार किसानों की व्यापारिक सीमा तय करेगा और उन्हें कृषि सम्बंधित उद्योग जैसे डेयरी आदि प्रोजेक्ट के लिए ऋण भी उपलब्ध कराएगा।
बैंक के महाप्रबंधक ने अपने दस शाखा प्रबंधकों से चर्चा कर इस सम्बंध में क्रियान्वयन करने के निर्देश भी दिए हैं। गत दिवस इसी विषय को लेकर उन्होंने बैठक भी बुलाई और प्रबंधन की मंशा जाहिर की।
उल्लेखनीय है कि बैंक ने वर्ष 2018-19 के दरमियान 435 लाख रुपए का लाभ कमाया है और बैंक का संचलित लाभ 945 लाख हो गया है। बैंक के महाप्रबंधक केके सोनी ने बताया कि जमा राशि में भी 150 करोड़ की वृद्धि बैंक ने की है और 62 हजार नए अमानतदारों को जोडऩे में सफल रहा है। इसी क्रम में बैंक की शाखाओं के माध्यम से अब व्यापारिक सीमा तय कर और उद्यमी विकास योजना बैंक शुरू करने जा रहा है। उद्यमी विकास योजना के अंतर्गत डेयरी ऋ ण भी देने का लक्ष्य रखा गया है। बैंक के खातेदार किसानों और अमानतदारों को अपने क्षेत्र की समितियों और बैंक की शाखाओं से सम्पर्क करने को कहा गया है। गत दिवस इस सम्बंध में 10 शाखाओं के शाखा प्रबंधकों की समीक्षा बैठक में इन योजनाओं के क्रियान्वयन के भी सपष्ट निर्देश दिए गए हैं।
जीएम ने बताया कि बैंक के प्रशासक जीएस डेहरिया के निर्देशन में शासकीय योजनाओं और सुविधाओं को सम्बंधितों तक पहुंचाने में बैंक की शाखाएं और समितियां कार्य में लगी हैं।

30 हजार एटीएम बनकर पहुंचे शाखाओं में

शुक्रवार को प्रधान कार्यालय ने जिला सहकारी केंद्रीय बैंक की 26 शाखाओं से जुड़े अमानतदारों के लिए लगभग 30 हजार एटीएम कार्ड पहुंचाए। इन एटीएम कार्डों का वितरण शाखाएं अमानतदारों की मांग के अनुरूप करेंगी जिससे न सिर्फ शाखाओं में लगने वाली भीड़ कम होगी, बल्कि आधुनिक ढंग से सहकारी बैंक के अमानतदारों को बैंकिंग करने की सुविधा प्राप्त होगी। सहकारी बैंक विगत छह वर्षों से सीबीएस प्लेटफ ॉर्म में कार्य करते हुए डिजिटल मेम्बर रजिस्टर के माध्यम से ऋ ण वितरण के साथ अपने अमानतदारों को एनइएफटी की सुविधाओं जैसी अनेक सुविधाएं उपलब्ध करा ही रहा है।

उद्योग के लिए ऋण दिया जाएगा

बैंक अपने खाताधारक किसानों को और सुविधाएं देने का प्रयास कर रहा है। एटीएम देने के साथ बैंक लिमिट बढ़ाने और योजना के तहत डेयरी उद्योग के लिए ऋण दिया जाएगा। बैंक शाखाओं को भी कहा जा रहा है कि शासकीय योजनाओं और सुविधाओं को ज्यादा से ज्यादा किसानों तक पहुंचाएं।
- केके सोनी, महाप्रबंधक, जिला सहकारी बैंक, छिंदवाड़ा