स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इस पुलिसकर्मी की वजह से ज्वेलरी शोरूम का चोर मणिकंडन पकड़ा गया, अब हो रही जमकर तारीफ

Purushotham Reddy

Publish: Oct 04, 2019 19:47 PM | Updated: Oct 04, 2019 19:47 PM

Chennai

Trichy Jewellery Heist Case:मणिंकडन को पकडने वाले पुलिस उपनिरीक्षक टी. भरत नेहरु (३१) की जमकर हो रही है तारीफ। SI Nehru nab accused, Tiruvarur, Tamilnadu, Lalitha Jewellery Heist case, Trichy

तिरुचि.

तिरुचि में नामी-गिरामी ज्वेलरी शोरूम में करोड़ो की चोरी की घटना के बाद पुलिस ने मात्र ४८ घंटे के अंदर चोरी गए सामनों की बरामदगी कर ली, वहीं घटना में शामिल एक आरोपी को भी गिरफ्तार करने में उन्हें सफलता मिली।

आरोपी को तिरुवारुर में वाहन जांच के दौरान गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार आरोपी की पहचान मणिकंडन के रूप में हुई है जबकि उसका साथी सुरेश फरार बताया गया है।

इन दोनों का पीछा कर आरोपी मणिंकडन को पकडने वाले पुलिस उपनिरीक्षक टी. भरत नेहरु (३१) की जमकर हो रही है तारीफ। पुलिस महकमा भी उनकी जांबाजी की तारीफ कर रहा है वहीं सोशल मीडिया में भी चोरी के आरोपी को पकडने की वाह-वाही हो रही है।

 

बाइक रोकने का इशारा किया तो भाग गए
पुलिस सूत्रों ने बताया कि दोनों बाइक से जा रहे थे लेकिन जब उन्हें जांच के लिए रोका गया तो वे भाग गए। पुलिसकर्मियों ने दोनों का पीछा किया और मण्णपुरम इलाके में बाइक को घेर लिया लेकिन सुरेश भाग चुका था। ज्वेलरी शोरूम में चोरी करने वाले आरोपी को पकडऩे में एसआई टी. भरत नेहरु (३१) की अहम भूमिका रही है। चाहुंओर उनकी तारीफ हो रही है।

 

डेढ़ किलोमीटर पीछा कर मणिकंडन को पकड़ा
दरअसल जब वाहन जांच के दौरान नेहरु ने बाइक रोकने का इशारा किया तो मणिकंडन और सुरेश नहीं रूके और बाइक दौडाकर भाग गए। नेहरू और उनके सहयोगी हेड कांस्टेबल एन रवि ने तंजावुर-तिरुवरूर रोड पर विलामल के निकट उनका पीछा किया और दोनों दूसरी दिशा में जाने लगे। बिना समय बर्बाद किए नेहरु उन्होंने अपने सहयोगी के साथ मिलकर मणिकंडन का पीछा करना शुरू कर दिया।

 

पुलिसवालों को पीछे आते देख मणिकंडन झाडिय़ों के अंदर चला गया। इसी दौरान झाडिय़ो का फायदा उठाकर सुरेश भाग गया। लगभग एक-डेढ़ किलोमीटर तक पीछा करने के बाद नेहरू ने मणिकंडन को पकड़ लिया और उसके पास बैग में रखे सोने के गहने बरामद कर लिए।

 

पुलिसकर्मियों ने पैदल भागने वाले सुरेश की तलाश की लेकिन उसका कोई सुराग नहीं लगा। मणिकंडन को तिरुवारुर टाउन पुलिस स्टेशन ले जाया गया जहां उससे पूछताछ की गई।