स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

TAMILNANU: ५वीं व ८वीं के बोर्ड परीक्षा के निर्णय को राज्य सरकार ले वापस: स्टालिन

Vishal Kesharwani

Publish: Sep 15, 2019 16:18 PM | Updated: Sep 15, 2019 16:18 PM

Chennai

Stalin said the stress level would go up if they were forced to write public exams अगर ५वीं और ८वीं के विद्यार्थियों को बोर्ड परीक्षा लिखने के लिए मजबूर किया गया तो उनका तनाव बहुत ज्यादा ही बढ़ जाएगा।

५वीं व ८वीं के बोर्ड परीक्षा के निर्णय को राज्य सरकार ले वापस: स्टालिन
चेन्नई. डीएमके अध्यक्ष एम.के. स्टालिन ने रविवार को तमिलनाडु शिक्षा विभाग से पांचवीं व आठवीं कक्षा के लिए बोर्ड परीक्षा आयोजित करने वाले निर्णय को वापस लेने की मांग की।

विद्यार्थियों पर बनेगा दबाव
यहां जारी एक विज्ञप्ति में स्टालिन ने कहा अगर ५वीं और ८वीं के विद्यार्थियों को बोर्ड परीक्षा लिखने के लिए मजबूर किया गया तो उनका तनाव बहुत ज्यादा ही बढ़ जाएगा।


सरकार के इस निर्णय की वजह से प्राथमिक विद्यार्थियों को भी कोचिंग करनी पड़ जाएगी। इस प्रकार से विद्यार्थियों को परेसानी उठानी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि बोर्ड परीक्षा कराने के निर्णय से निचले स्तर से ही विद्यार्थियों पर दबाव बनना शुरू हो जाएगा और स्कूल पास करने में ही उन्हें कई साल लग सकते हैं।


आठवीं तक नहीं होगा बोर्ड परीक्षा

स्कूल शिक्षा मंत्री के.ए. सेंगोट्टयन हमेशा से कहते आ रहे हैं कि आठवीं तक के विद्यार्थियों के लिए किसी प्रकार का बोर्ड परीक्षा नहीं होगा। लेकिन अब शिक्षा विभाग ने बोर्ड परीक्षा की घोषणा भी कर दी है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने केंद्र की सिफारिशों को ध्यान में रखते हुए बोर्ड परीक्षा कराने का निर्णय लिया है। ऐसे में मै सरकार से इस निर्णय को वापस लेने का आग्रह करता हूं।