स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नवजोत सिद्धू ने केबिनेट बैठक में शामिल न होकर खुली बगावत का ऐलान किया

Prateek Saini

Publish: Jun 06, 2019 18:07 PM | Updated: Jun 06, 2019 18:07 PM

Chandigarh Punjab

मुख्यमंत्री और सिद्धू के बीच हाल में लोकसभा चुनाव के दौरान की गई कुछ टिप्पणियों को लेकर जुबानी जंग हुई है...

(चंडीगढ): पंजाब के शहरी निकाय मंत्री नवजोत सिद्धू ने आज यहां मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह की अध्यक्षता में आयोजित केबिनेट बैठक में शामिल न होकर खुली बगावत का ऐलान कर दिया। लोकसभा चुनाव के बाद यह पहली केबिनेट बैठक थी।

 

मुख्यमंत्री और सिद्धू के बीच हाल में लोकसभा चुनाव के दौरान की गई कुछ टिप्पणियों को लेकर जुबानी जंग हुई है। अब केबिनेट बैठक में सिद्धू की गैर हाजिरी को मुख्यमंत्री के खुले विरोध के रूप में देखा जा रहा है। मंत्रियों के विभागों में फेरबदल और कुछ मंत्रियों को हटाए जाने के संकेतों के बीच केबिनेट की यह बैठक काफी महत्वपूर्ण मानी गई है। मुख्यमंत्री पहले ही कह चुके है कि लोकसभा चुनावों में शहरी क्षेत्रों में पार्टी के कमजोर प्रदर्शन के मद्येनजर वे सिद्धू से शहरी निकाय विभाग वापस लेने पर विचार कर रहे है।

 

केबिनेट बैठक के दौरान नवजोत सिद्धू ने अपने निवास पर पत्रकारवार्ता का आयोजन कर लोकसभा चुनावों में शहरी क्षेत्रों में कांग्रेस के प्रदर्शन को लेकर अपने विभाग की उपलब्धियों का ब्यौरा रखा। उन्होंने कहा कि अपने जीवन में जहां भी मैंने कार्य किया है वहां बेहतर प्रदर्शन किया है। उन्हें कम करके नहीं आंका जा सकता है। उन्होंने क्रिकेट,लाफ्टर शो और राजनीति सभी क्षेत्रो बेहतर प्रदर्शन किया है। सिद्धू ने लोकसभा चुनावों में शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में कांग्रेस के प्रदर्शन का विश्लेषण भी किया। सिद्धू ने दावा किया कि लोकसभा चुनावों में उनके बेहतर कार्य को देखते हुए उन्हें अलग-थलग किया जा रहा है।