स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

चुनाव के पहले पहुंची चिटठी,भूल ना जाना गैस देकर हटाए हैं चूल्हे व मिट्टी

Satyendra Porwal

Publish: Sep 15, 2019 01:27 AM | Updated: Sep 15, 2019 01:27 AM

Chandigarh Punjab

हरियाणा (HARAYANA ) के नौ लाख घरों में पहुंचेगी सीएम खट्टर की चिट्ठी। उज्जवला के तहत कनेक्शन लेने वाले परिवारों का मांगेंगे समर्थन। पत्र से गिनाई जाएंगी सरकार की उपलब्धियां।

(चंडीगढ़ ). हरियाणा में चुनाव के पहले ही मुख्यमंत्री (CHIEF MINISTER OF HARYANA) ने आभार पत्र के जरिए लोगों के घरों तक पहुंच बनाने का प्रयास किया है। उज्जवला योजना से लाभान्वित परिवारों के घरों में पहुंचाई जाने वाली इस चिट्ठी से यह संदेश दिया जा रहा है कि हमने आपका ध्यान रखा अब आप हमारा ध्यान रखना। हरियाणा में पिछले पांच साल के दौरान जिन परिवारों ने उज्जवला योजना के तहत गैस कनेक्शन लिए हैं, अब उन घरों में मुख्यमंत्री का आभार पत्र जाएगा। इसके माध्यम से न केवल उन्हें सरकार की अब तक की उपलब्धियां बताई जाएंगी, बल्कि आने चुनाव के लिए समर्थन भी मांगा जाएगा। मुख्यमंत्री मनोहरलाल के हस्ताक्षरों वाले यह पत्र हरियाणा के घरों में पहुंचने शुरू हो गए हैं।

लोगों तक पहुंच बनाने का दूसरा प्रयास
चुनावी सीजन में हरियाणा के लोगों तक पहुंच बनाने का यह दूसरा प्रयास है। इससे पहले सरकार द्वारा ग्रेड डी के तहत भर्ती किए गए कर्मचारियों के घरों में इस तरह के पत्र भेजे गए थे। अब सरकार ने उन परिवारों पर तक पहुंच करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। जिन्हें पिछले पांच साल के दौरान उज्जवला योजना (PRADHAN MANTRI UJJWALA YOJANA HINDI NEWS) के तहत गैस कनेक्शन दिए गए हैं। इस श्रेणी में नौ लाख परिवार आते हैं।
बिना भेदभाव के नौकरियां की प्रदान
मुख्यमंत्री मनोहरलाल के हस्ताक्षरों वाले इस पत्र में लिखा है कि पिछले पांच साल के दौरान आपकी सरकार ने समूचे हरियाणा को परिवार मानते हुए समाज के प्रत्येक वर्ग के लिए काम किया है। योग्यता के आधार पर बिना भेदभाव के नौकरियां प्रदान की गई हैं। पत्र के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उज्जवला योजना शुरू की है।

परिवार के सदस्यों का स्वास्थ्य भी हुआ अच्छा

भूल ना जाना गैस देकर हटाए हैं चूल्हे व मिट्टी

योजना के तहत आपको भी गैस कनेक्शन दिया गया है। इससे आपकी रसोई धुएं से मुक्त हुई है और आपके परिवार के सदस्यों का स्वास्थ्य भी अच्छा हुआ। नौ लाख से अधिक परिवारों को यह लाभ मिलने से हरियाणा मिट्टी के तेल के खेल से मुक्त हुआ है। इसी प्रकार हरियाणा एक मात्र प्रदेश है जहां राशन की दुकानों पर निर्धनों को 20 रुपए प्रति लीटर की दर से दो लीटर सरसों का तेल हर माह मिलता है।

भविष्य के लिए भी मांगा समर्थन
मुख्यमंत्री ने उज्जवला के लाभार्थियों को इस पत्र के माध्यम से संबोधित किया है कि आपने हर कदम पर सहयोग किया है और भरपूर आशीर्वाद दिया है। इसी के आधार पर मुख्यमंत्री ने भविष्य में भी समर्थन की मांग की है। मुख्यमंत्री का यह पत्र हरियाणा के उज्जवाला लाभार्थी परिवारों को भेजना शुरू कर दिया गया है। इस कार्य को चार दिन के भीतर पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। इसके बाद भाजपा नेताओं द्वारा व्यक्तिगत उज्जवाला लाभार्थी परिवारों से संपर्क किया जाएगा।