स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

आनंदपुर साहिब में पचास दुकानें जलकर राख हुई, करोड़ों रूपए के नुकसान का अनुमान

Prateek Saini

Publish: Jun 07, 2019 16:40 PM | Updated: Jun 07, 2019 16:40 PM

Chandigarh Punjab

आग की गिरफ्त में आई ज्यादातर दुकानें धार्मिक वस्तुएं, खिलौने, जूते और खाने के सामान बेचती थीं...

(आनंदपुर साहिब): पंजाब के सिख तीर्थ आनंदपुर साहिब में आज तड़के करीब पचास दुकानें जलकर राख हो गईं। इस अग्निकांड में करोडों रूपए का नुकसान होने का अनुमान है। घटना तख्त केशगढ़ साहिब के करीबी बाजार की है। आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट होना बताया गया है। कई लोग उस समय अपनी दुकानों में सोए हुए थे लेकिन जनहानि का कोई समाचार नहीं है। दो ट्रकों समेत आठ वाहन भी पूरी तरह आग में नष्ट हो गए। एक नाश्ते की दुकान के पीछे लगे बिजली नियंत्रण पैनल से आग फैलना शुरू हुई थी। आग ने जल्दी ही बडी संख्या में दुकानों को पकड़ लिया। इसका कारण यह भी रहा कि कुछ दुकानों में गैस सिलिंडर रखे हुए थे। आग की गिरफ्त में आई ज्यादातर दुकानें धार्मिक वस्तुएं, खिलौने, जूते और खाने के सामान बेचती थीं। इन दुकानों को तारपोलिन और प्लास्टिक की वस्तुओं से बनाया गया था। शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी ने इन दुकानों के लिए जमीन नीलाम की थी।

 

 

 

दुकानदारों ने आरोप लगाया है कि फायर ब्रिगेड की ढिलाई के कारण आग अधिक दुकानों तक पहुंच गई। फायर ब्रिगेड को सूचना देने के करीब एक घंटे बाद पहली दमकल पहुंची। आग तड़के तीन बजे से कुछ ही पहले शुरू हुई थी और फायर ब्रिगेड को तुरंत सूचना दी गई थी। नंगल से पहली दमकल सुबह चार बजे बाद ही पहुंची। आनंदपुर साहिब में फायर ब्रिगेड नहीं है। आपातकाल में नंगल या रोपड़ से ही दमकलें मंगानी पड़ती हैं। हालांकि फायर सर्विस विभाग ने किसी ढिलाई से इनकार किया है।