स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नामांकन पत्र खरीदते ही निरस्त हुआ छात्रसंघ अध्यक्ष प्रत्याशी का एडमिशन, सड़क पर उतरे समर्थक

Mohd Rafatuddin Faridi

Publish: Nov 05, 2019 10:34 AM | Updated: Nov 05, 2019 10:34 AM

Chandauli

लाल बहादुर शास्त्री पीजी कॉलेज छात्रसंघ चुनाव का मामला।

चंदौली. यूपी के दीनदयाल उपाध्याय नगर (मुगलसराय) स्थित लाल बहादुर शास्त्री डिग्री कॉलेज में बड़ी तादाद में छात्र उस समय विरोध पर उतर आए और कॉलेज परिसर में धरने पर बैठ गए जब उन्हें पता चला कि छात्रसंघ चुनाव में नामांकन के ‌लिए पर्चा खरीदने के बाद छात्र का प्रवेश निरस्त कर दिया गया है। नाराज छात्र प्राचार्य कक्ष में भी घुस गए। शाम को करीब पांच बजे छात्रों ने जीटी रोड भी जाम कर दिया। छात्रों को समझाने में पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को पसीने छूट गए, पर छात्र नहीं माने। छात्र प्रत्याशी का प्रवेश निरस्त न करने और छात्रसंघ चुनाव को टालने की मांग पर अड़े रहे।

लाल बहादुर शास्त्री पीजी कालेज के जिस अविनाश लखन महाशिवरात्रा का प्रवेश निरस्त किया गया है, उसका एडिमशन एमए प्रथम वर्ष में हिंदी विषय में हुआ था। अविनाश की मानें तो प्रिंसिपल की ओर से कुलसचिव महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ को एक पत्र भेजा गया था। कुलसचिव की ओर से खुर विशेष परिस्थियों में एडमिशन देने के आदेश के बाद 29 जुलाई को उसका प्रवेश लिया गया।

अविनाश छात्रसंघ चुनाव में अध्यक्ष पद के लिये दावेदार था। इसके लिये वह पहले से तैयारी कर रहा था। बीते एक नवंबर को उसने नामांकन पत्र खरीदा, लेकिन दो नवंबर को ही काशी विद्यापीठ से उसका एडमिशन कैंसल होने का परवाना आ गया। इसके पीछे कारण बताया गया कि प्रवेश नियमानुसार नहीं हुआ और यह बात कुलसचिव के लेटर हेड पर लिखकर आयी।। इसके बाद अविनाश के समर्थक छात्र आक्रोशित होकर धरने पर बैठ गए। दिन भर इसको लेकर हंगामा चलता रहा। एसडीएम हर्ष कुमार ने कहा कि एडमिशन निरस्त किये जाने और चुनाव के बाबत एक रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को सौंप दी गयी है।

By Santosh jaiswal

[MORE_ADVERTISE1]