स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

तेज़ी से बढ़ते गंगा के जलस्तर को देखते हुए तटवर्ती इलाके के लोग सहमे, जिला प्रशसन ने भी कसी कमर

Ashish Kumar Shukla

Publish: Aug 08, 2019 20:16 PM | Updated: Aug 08, 2019 20:16 PM

Chandauli

वहीं जिला प्रशासन भी गंगा के बढ़ते जलस्तर के मद्देनजर अपनी कमर कस चुका है

चंदौली. पहाड़ों और मैदानी इलाको में हो रही लगातार बारिश के बाद गंगा नदी का जलस्तर भी तेजी से बढ़ रहा है। इसका असर जनपद में भी दिखाई देने लगा है। गंगा नदी के बढ़ते जलस्तर ने तटवर्ती इलाको में रहने वाले लोग बाढ़ की आशंका से सहमे हुए हैं। साथ ही गंगा में कटान भी हो रहा है। जिसके डर से लोगो की नीद उड़ गई है। वहीं जिला प्रशासन भी गंगा के बढ़ते जलस्तर के मद्देनजर अपनी कमर कस चुका है।

वाराणसी से सटे पड़ाव से लेकर पड़ोसी जनपद गाजीपुर के ज़मानियां तक तकरीबन 60 किलोमीटर के क्षेत्र में बसने वाले तटवर्ती गावों के लोग पहले से ही कटान की त्रासदी झेल रहे हैं। बारिश के दिनों में हर साल उफनाई गंगा की तेज लहरें यहाँ के किसानो की खेती योग्य जमीन को बहा ले जाती हैं । इस साल भी गंगा तेजी से बढ़ रही है और लोग डरे हुए हैं।

दरअसल वाराणसी से सटे चंदौली जिले से होकर गुजरने वाली गंगा नदी जिले में लगभग 60 किलोमीटर का सफ़र तय करतीं हैं और गंगा नदी इस सफ़र में तेज धाराओं से होने वाले कटान से यहाँ के किसानो की अब तक सैकड़ो एकड़ कृषि योग्य जमीन गंगा की धाराओं में समा चुकी है और दर्जनो किसान भूमिहीन हो चुके हैं। आलम यह है की गंगा की लहरें कई गावो के बिलकुल नजदीक पहुंच चुकी है और लोग इस त्रासदी से बेहाल हैं। हालांकि चन्दौली में गंगा नदी खतरे के निशान से अभी नीचे बह रही है।लेकिन पिछले चार दिनों से नदी के जलस्तर में तेजी से बढ़ोत्तरी हो रही है।लिहाजा बाढ़ की आशंका के मद्देनजर जिला प्रशासन ने भी अपनी तरफ से तैयारी पूरी कर ली हैं।