स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

गरीब कर्मचारी को पहले नौकरी से निकाला फिर उसने नाम फर्म बनाकर मालिक ने कर दिया करोड़ों का घोटाला

Ashish Kumar Shukla

Publish: Oct 12, 2019 15:14 PM | Updated: Oct 12, 2019 15:14 PM

Chandauli

राजस्व विभाग द्वारा एक करोड़ 12 लाख चार हजार रुपये राजस्व का बकाया दिखाया गया था

चंदौली. मुगलसराय इलाके के सुभाष नगर के रहने वाले एक कोयला व्यापारी की जालसाजी की पोल खुल गई है। अब पुलिस ने उसके खिलाफ मामला दर्ज कर आगे की कार्यवाही कर रही है।

पुलिस के अनुसार महावलपुर (दुलहीपुर) के विनोद कुमार चौहान चंधासी कोयला मंडी में कोयला व्यापारी विशाल के यहां मुंशी के पद पर कार्य करता था। विशाल ने विनोद के ऊपर चोरी का आरोप लगाते हुए वर्ष 2017 में उसे हटा दिया। वर्ष 2018 को विनोद को एक नोटिस मिली जिसमें राजस्व विभाग द्वारा एक करोड़ 12 लाख चार हजार रुपये राजस्व (जी एस टी वी अन्य टैक्स) का बकाया दिखाया गया था।

मामले की जांच के बाद मुंशी के नाम नोटिस जारी हो गई। नोटिस मिलने के बाद मुंशी विनोद कुमार चौहान हैरान रह गया। वह इस मामले की जानकारी के लिए काफी प्रय़ास किया लेकिन विशाल के काले खेल की जानकारी उसे नहीं हो सकी। इस मामले में उसे जेल की हवा तक खानी पड़ गई। जेल से छूटने के बाद वो घर आया तो परेशान ही रहा की आखिर उसे जिस बात की जानकारी तक नहीं है उसमें वो जेल कैसे चला गया।

जेल से लौटने के बाद विनोद अपने स्तर पर जांच किया तो पता चला कि मालिक विशाल ने उसके नाम पर फर्जी फर्म बना रखी है। उसी फर्म से उसने एक करोड़ 12 लाख रूपये का घोटाला कर दिया है जिसमें फर्म के मालिक यानि मुंशी विनोद चौहान को जेल की हवा खानी पड़ी। आनन फानन में पीड़ित अपनी मां के साथ एसपी कार्यालय पहुंचा। एसपी से मामले की शिकायत की। मामले को गंभीरता से लेते हुए एसपी ने सीओ को जांच का आदेश दिया। सीओ के नेतृत्व में जांच शुरू की गई।