स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बाढ़ पीड़ितों की किसी ने नहीं ली सुध, हवा-हवाई निकले सारे वादे

Ashish Kumar Shukla

Publish: Oct 08, 2019 18:49 PM | Updated: Oct 08, 2019 18:49 PM

Chandauli

गाँव में जिन गरीबो का आशियाना उजड़ गया है उन्हे कोई पूछने वाला नहीं

चंदौली. पिछले सप्ताह लगातार हुई बारिश के बाद बाढ़ से धानापुर विकास खण्ड के 81 गांवों में गिरे कच्चा मकानों के सरकारी अमला ने अब तक कोई सुध नही ली। लोग परेशानी में जिंदगी गुजारने को मजबूर हैं। एक तरफ गाँवो में जन प्रतिनिधि चौपाल लगाकर कच्चे मकान वालों की सूची प्रधानमंत्री आवास की बनाते थे। लेकिन अब बुलाने पर भी गिरे मकानों को देखने नही जाते। गाँव में जिन गरीबो का आशियाना उजड़ गया है उन्हे कोई पूछने वाला नहीं।

पॉलीथिन के सहारे जीवन यापन करने को विवश है सरकार के अच्छे दिनों की आस में बैठे ग्रामीणों का धैर्य टूटता नजर आने लगेगा है। सपा नेता सुनील यादव ने कहा कि सपा सरकार में गरीबो के आशियाने में आगजनी एवम गिरे घरों से नुकसान होने पर तुरन्त मौके पर राजस्व निरीक्षक नुकसान हुए सामानों मवेशियों के मूल्यांकन कर आर्थिक सहायता दिलाई जाती थी लेकिन आवास मिलना तो दूर जनप्रतिनिधि बुलाने पर नही जाते।

पिछले दिनों हुई लगतार बरसात से विकास खण्ड के 81 गाँवो में सैकड़ो घर गिरे परन्तु आज तक गिरे घरों के हुए नुकसान का मूल्यांकन नही हुआ न ही कोई को सरकारी अमला व जनप्रतिनिधि ने सुध ली।