स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अयोध्या पर फैसले से पहले ही इस मस्जिद के इमाम लोगों से कर रहे हैं अपील, जो भी हो फैसला दिल से करें स्वीकार

Ashish Kumar Shukla

Publish: Nov 06, 2019 17:52 PM | Updated: Nov 06, 2019 17:52 PM

Chandauli

इस फैसले को लेकर अभी से जो तैयारी की जा रही है उसकी हर तरफ तारीफ हो रही है

चंदौली. अयोध्या मामले पर हर किसी को सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार है। पुलिस प्रशासन लगातार जगह-जगह मीटिंग करके लोगों को समझाने में भी जुटा है कि फैसला चाहे जो हो लेकिन किसी को भी सद्भाव व शांति बिगाड़ने नहीं देना है। लेकिन चंदौली जिले में इस फैसले को लेकर अभी से जो तैयारी की जा रही है उसकी हर तरफ तारीफ हो रही है।

जी हां मुगलसराय इलाके में जामा मस्जिद है। यहां जुमे के दिन भारी संख्या मे लोग नमाज करने आते हैं। तकरीबन 15 दिनों से अधिक हो गये, जब से इस मस्जिम के इमाम द्ववारा लगातार नमाज करने आने वालों लोगों से ये कहा जाता है कि अयोध्या मसेल पर आने वाले फैसले को लेकर हर कोई शांति का संदेश लोगों को देने का काम करे।

जुमे की नमाज के बाद जामा मस्जिद के इमाम मोहम्मद जाहिद हुसैन सबको पास बुलाते हैं। वो कहते हैं कि अयोध्या मामले पर जो भी फैसला आएगा उसको हम मानेंगे। इमाम कहते हैं कि मेरी सब से अपील है जो भी फैसला आएगा उसको दिल से मन से मानना है। उसमें कोई शको सुबहा नहीं होनी चाहिए इमाम साहब कहते हैं कि लोग अमन शांति बनाए रखें और कोर्ट के फैसले का सम्मान करें।

क्या कहते हैं अलीनगर मस्जिद के इमाम

अलीनगर मस्जिद के इमाम शम्स आलम भी फैसले को लेकर अभी से ही सद्भाव बांटने का काम कर रहे हैं। वो कहते हैं कि कौम की सलामती बहुत जरूरी है हमारे लिए। इमाम कहते हैं कि फैसला जो भी हो हम उसको जीत और हार की शक्ल में नहीं देखेंगे। हम चाहते हैं कि हमारा देश, हमारा इलाका, हमारा गांव, हमारा मोहल्ले के लोग आपस में शांति से रहें, तभी तो किसी प्रकार का विकास, व्यापार, इबादत होगी। इमाम शम्स आलम कहते हैं कि हम मंदिर मस्जिद के खातिर जंग करेंगे तो आपस में तनाव हो जाएगा। पूजा होगी ना इबादत होगी। मंदिर -मस्जिद से ज्यादा जरूरी देश में अमन और अमन कायम रहे।

[MORE_ADVERTISE1]