स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

लोकसभा चुनाव से पहले फिर मेडिकल कालेज और जमीन घोटाले का मुद्दा गरमाया

Ashish Kumar Shukla

Publish: Dec 22, 2018 17:44 PM | Updated: Dec 22, 2018 17:44 PM

Chandauli

जिलाधिकारी ने आश्वस्त किया कि दो अधिकारी की टीम बना दी गई है जांच रिपोर्ट आने पर दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी

चंदौली. सैयदराजा विधानसभा में व्याप्त विभिन्न समस्याओं को लेकर एक प्रतिनिधिमंडल रिटायर्ड फौजी अंजनी सिंह के नेतृत्व में जिला अधिकारी से मिला और अपनी मांगों का पत्र जिलाधिकारी को दिया | इन मांगो में मुख्य रूप से जिले में मेडिकल कॉलेज के लिए जमीन की व्यवस्था , दो बंद पड़े पम्प को चालू करना, सैयदराजा में बालिका महाविद्यालय शुरू करना | कमालपुर में वर्षों से बनकर तैयार खड़े स्वास्थ्य केंद्र को हस्तांतरित करवाना प्रमुख है | साथी ही प्रतिनिधिमंडल ने धानापुर ब्लाक में कब्रिस्तान की भूमि बंजर भूमि को मालियत दिखा कर बेचे जाने का मामला भी उठाया | जिस पर जिलाधिकारी ने आश्वस्त किया कि दो अधिकारी की टीम बना दी गई है जांच रिपोर्ट आने पर दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी |

दरअसल मेडिकल कॉलेज निर्माण जिले का प्रमुख मुद्दा बन गया है | मेडिकल कालेज निर्माण सपा और बीजेपी की राजनीति की भेंट चढ़ गया | पिछली सपा सरकार में शिलान्यास के बावजूद चंदौली में मेडिकल कॉलेज की पड़ पायी | पिछली सरकार में सैयदराजा से तत्कालीन विधायक मनोज सिंह के प्रयास से विधानसभा क्षेत्र के माधोपुर में उद्यान विभाग की जमीन को मेडिकल कॉलेज के नाम से रजिस्ट्री कराया गया था और उम्मीद जगी थी कि मेडिकल कॉलेज चंदौली में बन जाएगा | लेकिन यूपी में योगी सरकार आने के बाद और मनोज सिंह W के हार के बाद मेडिकल कॉलेज निर्माण ठंडे बस्ते में चला गया | बीते 13 सितंबर को सीएम योगी चंदौली के दौरे पर थे |

इस दौरान उन्होंने नरसिंहपुर गांव में सभा को संबोधित करते हुए बताया भी था कि जिले के सांसद और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सहित जिले के कई विधायकों ने जिले में मेडिकल कॉलेज निर्माण का मुद्दा उठाया था | जिस पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने जनपद वासियों का आश्वस्त किया था और जिला प्रशासन को आदेश दिया था कि मेडिकल कॉलेज के लिए जमीन तैयार करके रखिए सभी औपचारिकता पूर्ण करके रखिए मेरे अगले चंदौली दौरे में मेडिकल कॉलेज की घोषणा कर दी जाएगी | बावजूद इसके अभी तक जमीन के लिए कोई खोज नहीं की गई |

जबकि सैयदराजा विधानसभा के माधोपुर गांव में मेडिकल कॉलेज निर्माण के लिए पर्याप्त जमीन अभी तक उसी तरह पड़ी हुई है | इसका प्रस्ताव बनाकर प्रतिनिधिमंडल ने जिलाधिकारी को सौंपा और मांग की इस जमीन की पूरी तैयारी करा कर शासन को रिपोर्ट भेजी जाये |

ताकि मेडिकल कॉलेज के लिए जमीन की समस्या का समाधान हो सके | वहीं चारी और भुजाना में बंद पड़े पंप कैनाल जो अभी तक अधूरा पड़ा है को चालु करने की डीएम से मांग की | ताकि हजारों एकड़ भूमि समय से सिंचित हो सके और किसानों को इसका लाभ मिल सके | पिछली सरकार में कमालपुर में प्राथमिक चिकित्सा केंद्र बनाया गया था | जो बनकर तैयार खड़ा हुआ है लेकिन अब तक शुरू नहीं हो पाया | धानापुर ब्लाक क्षेत्र में बड़े पैमाने पर चकबंदी के माध्यम से धांधली कर कब्रिस्तान की सरकारी विद्यालय की बंजर आबादी की भूमि को मालियत लगाकर बाँट दिया गया | यहां तक कि ब्लॉक की जमीन को भी मालियत दिखाकर बांट दिया गया है |

इस घोटाले की तरह भी जिलाधिकारी से पत्र के माध्यम से शिकायत की गए | सैयदराजा में बनकर तैयार महिला महाविद्यालय को अब तक शुरू नहीं किए जाने की मांग भी डीएम से की गयी | जिस पर जिलाधिकारी ने आश्वस्त किया कि जल्द से जल्द सभी प्रमुख बिंदुओं पर विचार किया जाएगा और उन्हें शुरू कराया जाएगा | मेडिकल कालेज के लिए भूमि का प्रस्ताव शासन को भेजा जाएगा | डीएम के आश्वासन से प्रतिनिधि मंडल के लोग आश्वस्त दिखे और उम्मीद जताई की जिलाधिकारी महोदय जल्द से जल्द इन बिन्दुओ पर ध्यान देंगे |

वहीं जिलाधिकारी ने बताया की धानापुर ब्लाक में चकबंदी के माध्यम से जो जमीन आवंटन में घोटाला किया गया है | उसको जिला प्रशासन ने गंभीरता से लिया है और इस पर उपजिलाधिकारी सकलडीहा के नेतृत्व में 2 अधिकारीयो की टीम गठित की गई है | जिसकी रिपोर्ट एक या दो दिन के अंदर आ जाएगी | मामले में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी |