स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

देश की सीमा पर शहीद हुए चंदन राय की बहन आज भाई की याद में रो रही थी, तब पुलिस के इस अधिकारी ने पहुंचकर अपनी कलाई आगे बढ़ा दिया

Ashish Kumar Shukla

Publish: Aug 15, 2019 13:59 PM | Updated: Aug 15, 2019 13:59 PM

Chandauli

2018 में दुश्मनों से लड़ते हुए देश की सीमा पर शहीद हो गये थे चंदन राय

चंदौली. आज रक्षा बंधन है। हर बहन अपने भाई की कलाई पर प्यार का रक्षासूत्र बांधकर उसके लंबी उम्र की कामना कर रही है। लेकिन आज उन बहनों के दिल में अजब सी कश्मकस है जिनके या तो भाई नहीं हैं। या जिनके रहे भी हैं तो किसी हादसे में जान गंवा दिये।

ऐसी ही एक बहन चंदौली जिले की है। जिसके भाई चन्दन राय देश की सीमा पर लड़ते हुए जनवरी 2018 में शहीद हो गये थे। भाई की मौत के बाद पूरे परिवा पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा। भाई की मौत के बाद जब साल 2018 में रक्षाबंधन का पर्व आया तो इस दिन पूरा परिवार दुख में डूबा था। क्यूंकि चंदन कहीं भी रहते वो अपनी छोटी बहन से राथी बंधवाने के लिए घर जरूर आया करते थे। स्नातक की पढ़ाई करने वाली छोटी बहन इस दिन मायूस थी। इसी समय उसके घर पर पुलिस वालों से लैस दो गाड़ियां आकर रूकी। घर के लोगों ने बाहर देखा तो सकलडीहा के सीओ त्रिपुरारी पांडेय खड़े हैं।

सीओ ने कहा आज रक्षाबंधन है अपनी बहन से राखी बंधवाने आया हूं। नीलम घर के बाहर निकली तो उसके संग आंसुओं की धारा थी। सीओ को घर बैठाकर आवभगत किया गया। बहन नीलम ने राखी बांधी। सीओ ने वादा किया कि नीलम अब तुम्हारा भाई मैं हूं। पढ़ाई से लेकर शादी विवाह और जीवन भर भाई का फर्ज निभाऊंगा। बहन ने भाई को प्रणाम किया वहां खड़े लोग ये मार्मिक प्यार देख भावुक हो गये।

लेकिन तारीफ की बात ये रही इधर शहीद चंदन राय की याद में इस रक्षाबंधन पर भी उदास थी। उधर सुबह के 11.30 बजे सीओ सकलडीहा आये और कलाई बहन के आगे कर दिया। कहा कि हमने साल भर पहले वादा किया था वो जीवन भर निभाऊंगा। बहन को कभी किसी दुखी नहीं होने दूंगा। भाई बहन के इस रिश्ते की चर्चा इलाके में जमकर हो रही है।