स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

15 अगस्त को इन सरकारी स्कूलों में नहीं बांटी गयी स्वतंत्रता दिवस की मिठाई, ये है वजह

Mohd Rafatuddin Faridi

Publish: Aug 18, 2019 11:17 AM | Updated: Aug 18, 2019 11:17 AM

Chandauli

फीकी रही बच्चों की स्वतंत्रता दिवस की खुशी।

चंदौली. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर जहां देश भर के स्कूलों और संस्थाओं में जहां हर्षोल्लास से आजादी की खुशियां मनायी गयीं और तिरंगा फहराकर बच्चों को मिठाइयां बांटी गयीं वहीं चंदौली के कई स्कूलों में बच्चों को स्वतंत्रता दिवस की खुशी में मिठाई तक नसीब नहीं हुई। मिना मुंह मीठा किये बच्चों की स्वतंत्रता दिवस की खुशी फीकी रही।

 

चंदौली जिले के पीडीडीयू नगर से जुड़े कई स्कूलों में मिडडे मील बांटने की जिम्मेदारी वाराणसी की एक संस्था की है। इसी संस्था की जिम्मेदारी वाले पूर्वी बाजार भाग संख्या एक व दो, शाहकुटी, काली महाल, पथरा, मवई प्राथमिक विद्यालय सहित नियमताबाद विकास खंड के कुड़ेखुर्द गंव स्थित प्राथमिक व जूनियर स्कूल में 13, 14 व 16 व 17 अगस्त को मिड डे मील नहीं बांटा गया। न सिर्फ इतना बल्कि शासन के निर्देशों की अवहेलना करते हुए यहां 15 अगस्त को बच्चों को स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान बांटे जाने वाली मिठाई भी नहीं भेजी गयी। इससे उनकी खुशियां फीकी रहीं।

 

मिड डे मील न बांटे जाने से स्कूली बच्चे भूखे पेट शिक्षा ग्रहण करने को मजबूर हैं। शिक्षकों की मानें तो मिड डे मी सप्लाई करने वाली संस्था के संचालक से इस बारे में बात की गयी तो उसने अनसुना कर दिया। शिक्षकों और अभिभावकों का आरोप है कि संचालक को जब इस बाबत फोन किया गया तो उसने थोड़ी देर में भोजन पहुंचने की बात कही, लेकिन स्कूल बंद होने तक मिड डे मील नहीं पहुंचा। शिक्षकों का दावा है कि दोबारा फोन करने पर संचालक ने बदसुलूकी की।

By Santosh Jaiswal