स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यूपी के चंदौली में छुड़ाए गए गुजरात ले जाए जा रहे सात नाबालिग बच्चे, ले जाने वाला आरोपी फरार

Mohd Rafatuddin Faridi

Publish: Jul 10, 2019 17:26 PM | Updated: Jul 12, 2019 00:00 AM

Chandauli

चंदौली के पीडीडीयू नगर स्टेशन की घटना, आरपीएफ ने सभी बच्चों को चाइल्ड लाइन के हवाले किया।

 

चंदौली . यूपी के चंदौली जिले में मुगलसराय थानान्तर्गत पं. दीनदयाल उपाध्याय रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ ने मानव तस्करी कर ले जाए जा रहे सात नाबालिग बच्चों को बरामद किया है। सभी चंदौली के शहाबगंज थानाक्षेत्र के रहने वाले हैं और उन्हें गुजरात ले जाया जा रहा था, लेकिन आरपीएफ की सक्रियता से सातों नाबालिग बचा लिये गए। हालांकि इस दौरान बच्चों को ले जा रहा तस्कर मौके से फरार हो गया। आरपीएफ ने आवश्यक कार्रवई के बाद बच्चों को चाइल्ड लाइन को सौंप दिया है।

इसे भी पढ़ें

स्टेशन पर छापेमारी को लेकर रेलवे के दो विभाग आमने-सामने, डीआरएम तक पहुंचा मामला

 

 

आरपीएफ को चाइल्ड लाइन संस्था के जरिय सूचना मिली कि कुछ बच्चों को तस्करी कर गुजरात ले जाया जा रहा है। इसके बाद आरपीएफ की टीम तत्काल सक्रिय हुई और स्टेशन का सीसीटीवी फुटेज खंगाला जाने लगा। टीम को प्लेटफॉर्म नंबर ¾ पर हावड़ा एण्ड की ओर सात बच्चे दिखे। आरपीएफ के जवान उनके पास पहुंचे तो उन्हें आता देख तस्कर वहां से फरार हो गया। जवानों बच्चों को थाने ले आए और उनसे पूछताछ की तो पता चला कि सभी शहाबगंज थानाक्षेत्र के रहने वाले हैं। उन्हें उनके ही थानाक्षेत्र के रहने वाला एक व्यक्ति काम दिलाने का लालच देकर गुजरात ले जा रहा था। सभी बच्चे नाबालिग हैं, जिनकी उम्र 12 से 17 साल के बीच है। उनके परिजनों को सूचित कर दिया गया है। आरपीएफ टीम का दावा है कि बच्चों से पूछताछ के आधार पर जो जानकारी मिली है, उसके जरिये वह आरोपी को जल्द से जल्द गिरफ्तार कर लेंगे।

इसे भी पढ़ें

पश्चिम बंगाल में हिंसा: मोदी के मंत्री ने ममता बनर्जी को बताया क्रूर शासक, कहा कही उनके लिये बड़ी बात

मुगलसराय रेलवे डिविजन के आरपीएफ कमांडेंट आशीष मिश्रा का दावा है कि डिविजन के सभी स्टेशन पर आरपीएफ सतर्क है और ट्रेनों की सघन चेकिंग करायी जाती है। इस तरह की घटनाओं पर लगाम लगायी जा सके, इसके लिये लगातार अभियान जारी है। उन्होंने बताया कि छुड़ाए गए बच्चों को चाइल्ड लाइन के हवाले कर दिया गया है।

By Santosh Jaiswal