स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यूपी बिहार बॉर्डर पर चल रहा था फर्जी परिवहन कार्यालय, अवैध सरकारी दस्तावेज के साथ चार गिरफ्तार

Akhilesh Kumar Tripathi

Publish: Jan 15, 2020 21:13 PM | Updated: Jan 15, 2020 21:13 PM

Chandauli

फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस, आरसी और विभिन्न राज्यों के प्रोफार्मा सहित बड़ी संख्या में अवैध सरकारी दस्तावेज बरामद

चंदौली. पुलिस ने यूपी बिहार बॉर्डर पर अवैध रूप से संचालित परिवहन कार्यालय का पर्दाफाश किया है, जहां से बड़ी मात्रा में चिप लगा फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस, आरसी और विभिन्न राज्यों के प्रोफार्मा सहित बड़ी संख्या में अवैध सरकारी दस्तावेज बरामद हुए है । मामले में मास्टरमाइंड सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है । यह लोग विभिन्न राज्यों के फर्जी दस्तावेज बनाकर ट्रक चालकों को सप्लाई करते थे ताकि चेकपोस्ट बैरियर पर वह आसानी से इन दस्तावेज को दिखाकर जांच बच सकें और सरकारी राजस्व की चोरी कर सके। गिरोह का सरगना ग्रेजुएट है और बड़े ही सफाई से सॉफ्टवेयर के माध्यम से नकली दस्तावेज तैयार कर देता है, इनमें असली और नकली का फर्क करना लगभग नामुमकिन हो जाता था ।

[MORE_ADVERTISE1]
[MORE_ADVERTISE2]

इस गैंग का सरगना हिमांशु श्रीवास्तव लैपटॉप प्रिंटर के माध्यम से हाईटेक सॉफ्टवेयर के सहारे स्कैन कर सरकारी दस्तावेज बना देता था और ट्रक चालकों को बेचा करता था ।सैयदराजा कोतवाली पुलिस और स्वाट टीम ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए सटीक मुखबिरी पर सैयदराजा कोतवाली क्षेत्र के नौबतपुर स्थित यूपी बिहार बॉर्डर एक दुकान पर छापा मारकर मामले का भंडाफोड़ किया और सरगना सहित चार को गिरफ्तार कर लिया। चारों आरोपी सैयदराजा कोतवाली क्षेत्र के निवासी बताए गए हैं। इनके पास से दो लैपटॉप, तीन प्रिंटर सहित बड़ी संख्या में निर्मित और अर्ध निर्मित चिपयुक्त ड्राइविंग लाइसेंस, फिटनेस प्रमाणपत्र, मुहर, प्रमाण पत्र राजस्थान सरकार और पंजाब सरकार का सादा प्रोफार्मा सर्टिफिकेट बरामद हुआ है ।


यह लोग ट्रक चालकों को पैसे लेकर नकली दस्तावेज बनाकर दे देते थे ताकि विभिन्न राज्यों में चेक पोस्ट पर आसानी से इन दस्तावेज को दिखाकर वह आगे बढ़ सके और उन्हें कोई दिक्कत ना हो । पुलिस अधीक्षक हेमंत कुटियाल ने बताया कि पिछले कुछ महीनों से यह गैंग यूपी बिहार बॉर्डर के नौबतपुर इलाके में सक्रिय था और बड़े पैमाने पर फर्जी दस्तावेज बना रहा था, सटीक सूचना पर स्वाट टीम और सैयदराजा कोतवाली पुलिस ने इसका भंडाफोड़ किया है। हालांकि इस गैंग में अन्य लोग भी शामिल हैं उनकी धरपकड़ में भी टीम लगी है और जल्द ही अन्य लोगों की गिरफ्तारी भी कर ली जाएगी।

By- Santosh Jaiswal

[MORE_ADVERTISE3]