स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

लाल बहादुर शास्त्री के कहने पर मनोज कुमार ने ट्रेन में लिखी थी इस फिल्म की कहानी, ऐसे पड़ा भारत कुमार नाम

Bhup Singh

Publish: Jan 25, 2020 19:37 PM | Updated: Jan 25, 2020 19:48 PM

Bollywood

पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री को भी मनोज कुमार की फिल्में पसंद थी। एक इंटरव्यू में भारत कुमार ने बताया था कि एक बार शास्त्री जी ने मुझसे कहा कि मैंने नारा दिया है 'जय जवान जय किसान' क्या इस पर फिल्म बन सकती है....

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता और फिल्ममेकर मनोज कुमार Manoj Kumar देशभक्ति की फिल्में बनाने के लिए जाने जाते हैं। भारत कुमार नाम से चर्चित एक्टर ने सिनेमा में हो रहे बदलाव पर एक इंटरव्यू में कहा था कि आज वो समाज भी नहीं है, हम एक ऐसे समाज से आए हैं, जिसमें भावनाएं थीं, मयार्दा थी, ठहराव था। आज का युवा आज के समाज की ही देन है। अगर कहीं कुछ कमी है तो उसकी जिम्मेदार ये सोसाइटी भी है। अब फिल्मों में वह रूह नहीं होती और फिल्ममेकर्स भी थोड़े आलसी हो गए हैं। आप किसी भी तरह की फिल्म बनाएं लेकिन आपका धर्म है कि उसमें कुछ ऐसा तो दीजिए कि दर्शक सोचने पर मजबूर हो जाएं और दिल से सिर्फ वाह निकले। वे हमारे अन्नदाता हैं, अपनी कमाई में से टिकट खरीदकर फिल्म देखने जाते हैं। मैं तो यूट्यूब पर शांतारामजी की पुरानी फिल्में और पहले के दौर की हॉलीवुड फिल्में देखता हूं।

 

[MORE_ADVERTISE1]

जय जवान जय किसान के नारे पर बनाई फिल्म
पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री को भी मनोज कुमार की फिल्में पसंद थी। एक इंटरव्यू में भारत कुमार ने बताया था कि एक बार शास्त्री जी ने मुझसे कहा कि मैंने नारा दिया है 'जय जवान जय किसान' क्या इस पर फिल्म बन सकती है। उनका यह कहना था और मेरे बदन में बिजली सी दौड़ गई। मैंने उनका आर्शीवाद लिया। 4 बजे वहां से डीलक्स ट्रेन चलती थी। मैंने अपने साथियों से कहा-मुझे दो डायरियां और 5-6 बॉलपैन लेकर दे दो। फरीदाबाद से ट्रेन आगे निकली, मैं खेतों की तरफ देख रहा था। कुछ कहानी दिमाग में नहीं आई थी। पहली लाइन लिखी, ये धरती एक ऐसी हथेली है, जिस पर किसान हल चलाकर किसान की तकदीर की लकीरें लिखता है। उसके बाद जब सेंट्रल बॉम्बे पहुंचा तो उपकार की कहानी तैयार थी।

[MORE_ADVERTISE2] [MORE_ADVERTISE3]

इसलिए रखा मनोज नाम
उनका असली नाम हरिकिशन गिरि गोस्वामी है। वे दिलीप कुमार से बेहद प्रभावित थे। उन्होंने फिल्म 'शबनम' देखी जिसमें दिलीप के किरदार का नाम मनोज था। बत से ही यह नाम रख लिया। मनोज कुमार से भारत कुमार बनने के सवाल पर एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था, हमारा देश गांवों में बसता है और यह किसानों का देश है, इसलिए फिल्म में 'भारत' नाम रखा। हमारे देश की पब्लिक इतनी दयालु है कि उन्हें जिस चीज में सच्चाई नजर आती है उसे सिर आंखों पर बैठा लेती है और जनता ने ही मुझे भारत कुमार बना दिया।

 

इस साल आएंगी ये देशभक्ति फिल्में
इस वर्ष देशभक्ति पर आधारित कुछ फिल्में रिलीज होंगी। इनमें भारतीय सेना के जांबाजों की कहानियां दिखाई जाएगी। अभिनेता विक्की कौशल, भारतीय सेना के फील्ड मार्शल रहे सैम मानेकशॉ की बायोपिक में नजर आएंगे। वहीं वरुण, परमवीर चक्र विजेता और वर्ष 1971 के युद्ध में शहीद हुए सेकंड लेफ्टिनेंट अरुण खेत्रपाल के रोल में नजर आएंगे। अजय देवगन की फिल्म 'भुज: द प्राइड ऑफ इंडिया' भी इस लिस्ट में है। वे वर्ष 1971 में हुए भारत-पाकिस्तान युद्ध में एयरफोर्स के ऑपरेशन में अहम भूमिका निभाने वाले विजय कार्णिक का किरदार निभाएंगे। इसके अलावा अजय आरआरआर में शहीद भगत सिंह का किरदार निभा सकते हैं। कारगिल युद्ध के हीरो विक्रम बत्रा पर फिल्म 'शेर शाह' बनने जा रही है। विक्रम बत्रा का किरदार सिद्धार्थ मल्होत्रा निभा रहे हैं। कारगिल गर्ल के नाम से मशहूर गुंजन सक्सेना के जीवन पर फिल्म 'द कारगिल गर्ल' बन रही है। इसमें जाह्नवी कपूर लीड रोल में हैं। बॉलीवुड क्वीन कंगना रनौत भी फिल्म 'तेजस' में एयरफोर्स पायलट की भूमिका निभाने को तैयार है।