स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

10 दिन तक जंगल में बिना कपड़ो के थी ये महिला, 30 लोग लगातार करते रहे रेप, कुछ ऐसी है 'बेंडिट शकुंतला' की दर्दनाक कहानी

Riya Jain

Publish: Nov 14, 2019 14:06 PM | Updated: Nov 14, 2019 14:06 PM

Bollywood

यह फिल्म बिहार की मशहूर डकैत शकुंतला की कहानी पर आधारित है।

'बेंडिट शकुंतला' का पहला लुक जारी हो गया है। यह फिल्म बिहार की मशहूर डकैत शकुंतला की कहानी पर आधारित है। फिल्म के लुक को 40वें अमरीकन फिल्म मार्केट में लॅान्च किया गया। बेंडिट शकुंतला का निर्देशन हैदर काजमी ने किया है। फिल्म को लियाकत गोला और इरीना रतकू ने मिलकर प्रोड्यूस किया है।

 

[MORE_ADVERTISE1]shakuntala1.jpg[MORE_ADVERTISE2]

शकुंतला ही निभाएंगी फिल्म में अपना किरदार

खास बात यह है कि फिल्म में शकुंतला का किरदार खुद डकैत शकुंतला ही निभाएंगी। एक्टर अभिमन्यू सिंह एक प्रतिपक्षी का रोल प्ले करेंगे। मूवी में ओंकर दास मानिकपुरी, ललितेश झा, रतनलाल, मुजामिल कुरैशी और हैदर काजमी भी लीड किरदार में नजर आएंगे।

 

[MORE_ADVERTISE3]shakuntala2.jpg

डकैत शकुंतला की कहानी

शकुंतला बिहार की एक डकैत थीं जिन्होंने गांव की महिलाओं पर हो रहे अत्याचारों के खिलाफ आवाज उठाई थी। उनका जन्म बिहार के एक छोटे से गांव में हुआ था। गरीबी और लाचारी के कारण उनपर बहुत अत्याचार किए गए। लेकिन उन्होंने शिक्षा को अपना ढाल बनाया। पढ़ाई में रूची लगाने के बाद एक दिन उन्हें एक अमीर आदमी ने किडनैप कर उनका रेप कर दिया। उस दौरान वह महज 12 साल की थीं।

इस दर्दनाक घटना के बाद उन्होंने उस आदमी के खिलाफ कोर्ट केस भी किया लेकिन वह हार गईं। गरीबी के चलते शकुंतला के ताऊ ने जबरदस्ती उनकी शादी एक बूढ़े आदमी से करवा दी जहां से वह भाग गई। बाद में उसी ताऊ ने जमीन हड़पने के चलते उनके पिता को मार दिया।

कुछ वक्त बाद उस अमीर आदमी ने एक बार फिर 30 लोगों के साथ मिलकर शकुंतला का रेप किया और 10 दिन तक जंगल में उनका रेप करते रहे। इसके बाद एक डकैत ने उनकी जान बचाई और शकुंतला को भी डकैत बना दिया। आज वह एक सोशल वर्कर हैं और लोगों की सेवा कर अपना जीवन व्यतीत कर रही हैं।