स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शादी के बाद सायरा बानो को मिला धोखा, बिना बताए दिलीप कुमार ने कर ली थी दूसरी शादी

Shaitan Prajapat

Publish: Dec 10, 2019 15:46 PM | Updated: Dec 10, 2019 15:46 PM

Bollywood

बॉम्बे टॉकीज की मालकिन देविका रानी की नजर उन पर पड़ी और उन्होंने दिलीप को एक्टर बनने के लिए कहा। दिलीप कुमार ने 22 साल छोटी सायरा बानो से शादी की है। सायरा के अलावा ....

बॉलीवुड के ट्रेजेडी किंग कहे जाने वाले दिलीप कुमार बुधवार को अपना 67वां जन्मदिन मना रहे है। उनका जन्म पाकिस्तान के पेशावर में हुआ था। उन्होंने अपने फिल्मी कॅरियर की शुरुआत 1943 में की थी। वह एक इंटरव्यू के लिए मुंबई के सबसे बड़े स्टूडियों बॉम्बे टॉकीज में पहुंचे थे। वहीं बॉम्बे टॉकीज की मालकिन देविका रानी की नजर उन पर पड़ी और उन्होंने दिलीप को एक्टर बनने के लिए कहा। दिलीप कुमार ने 22 साल छोटी सायरा बानो से शादी की है। सायरा के अलावा उन्होंने एक और शादी की थी।

[MORE_ADVERTISE1]saira banu[MORE_ADVERTISE2]

दिलीप कुमार और सायरा बानो के जीवन पर पत्रकार और लेखक उदयतारा नायर ने एक किताब लिखी है। इस किताब का नाम 'द सब्स्टेंस एंड द शैडो' है जिसके 400 पन्नों में दिलीप कुमार की जिंदगी सिमटी हुई है। एक इंटरव्यू में दिलीप कुमार ने बताया था कि साल 1972 में सायरा पहली बार प्रेग्नेंट हुईं थीं। 8 महीने की प्रेग्नेंसी में सायरा को ब्लड प्रेशर की शिकायत हुई। इस दौरान पूर्ण रूप से विकसित हो चुके भ्रूण को बचाने के लिए सर्जरी करना संभव नहीं था और दम घुटने से बच्चे की मौत हो गई। इसके बाद वह कभी भी प्रेग्नेंट नहीं हो सकीं। वहीं दिलीप कुमार ने बताया कि उनके मन में बाप न बन पाने की टीस कहीं दिल में ही रह गई। सायरा ने एक इंटरव्यू में कहा था अगर उनका बेटा होता तो वो शाहरुख खान के जैसा संस्कारों वाला होता।

[MORE_ADVERTISE3]saira banu

इस अभिनेत्री से की दूसरी शादी
दिलीप साहब ने समाज और परिवार में बच्चे के दबाव के चलते अस्मां से दूसरी शादी कर ली थी। 80 के दशक के शुरुआत में दिलीप कुमार और सायरा बानो के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा था। तभी उनकी जिंदगी में आई 'अस्मां'। 30 मई, 1980 को बेंगलोर में बिना सायरा के रजामंदी के दूसरी शादी कर ली, तो वे बुरी तरह टूट गईं। लेनिक इनकी ये शादी ज्यादा दिनों तक चल नहीं सकी और 22 जून, 1983 को दोनों के बीच तलाक हो गया।

saira banu

पाकिस्तान सरकार ने भी नवाजा
दिलीप कुमार को बेहतरीन अभिनय के लिए भारत सरकार ने उन्हें 1991 में पद्‍मभूषण की उपाधि से नवाजा और 1995 में फिल्म का सर्वोच्च राष्ट्रीय सम्मान 'दादा साहब फाल्के अवॉर्ड' भी प्रदान किया। पाकिस्तान सरकार ने भी उन्हें 1997 में 'निशान-ए-इम्तियाज' से नवाजा था। उससे पहले दिलीप कुमार साहब 1980 में मुंबई के शेरिफ भी नियुक्त किए गए थे।

saira banu