स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

क्या दिवाली पर ट्रेन में ले जाए जा सकते हैं पटाखे-फुलझड़ी, पढ़ें ये नियम

kranti namdev

Publish: Oct 20, 2019 19:46 PM | Updated: Oct 20, 2019 19:46 PM

Bilaspur

indian railway rules: त्योहारी सीजन में स्टेशन परिसर व ट्रेनों में भरी भीड़ के चलते लोग पटरी पार कर एक प्लेटफॉर्म से दूसरे प्लेटफॉर्म तक पहुंचते है। तो कुछ यात्री फटाके व ज्वलशील पदार्थ तक ले जाते है वह अनजाने में रेलवे एक्ट के नियमों का उलंघन करते है।

बिलासपुर. त्योहारी सीजन में स्टेशन परिसर व ट्रेनों में भरी भीड़ के चलते लोग पटरी पार कर एक प्लेटफॉर्म से दूसरे प्लेटफॉर्म तक पहुंचते है। तो कुछ यात्री फटाके व ज्वलशील पदार्थ तक ले जाते है वह अनजाने में रेलवे एक्ट के नियमों का उलंघन करते है। यात्रियों को रेलवे एक्ट के नियम की जानकारी देने रविवार को आरपीएफ व वाणिज्य विभाग की टीम ने अभियान चलाया।

रविवार सुबह वीआईपी गेट के पास डीसीएम किशोर निखारे, सहायक सुरक्षा आयुक्त वन आरके दास, सहायक सुरक्षा आयुक्त टू डी श्रीनिवास राव रेलवे सुरक्षा बल व जोनल व मंडल के आरपीएफ जवान उपस्थित हुए। स्काउड एंड गाईड के बच्चों के साथ रेलवे सुरक्षा बल के जवानों ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से ट्रेनों के सुरक्षित परिवहन के लिए रेलवे एक्ट के नियमों की पूरी जानकारी व एक्ट का उलंघन न हो इसके लिए उपाए बताए। दीपावली को ध्यान में रखते हुए अधिकारियों ने यात्रियों से निवेदन किया की सफर के दौरान ट्रेन में फटाको को लेकर बिलकुल भी यात्रा न करें यह उनके व अन्य यात्रियों के लिए भी घातक हो सकता है। इसके अलावा एक प्लेटफॉम से दूसरे प्लेटफॉर्म तक जाने के लिए फुटओवर ब्रिज का उपयोग करने के साथ ही महिला व दिव्यांग कोच में सफर न करने की हिदायत ही अधिकारियों ने यात्रियों को यह भी समझाया की अक्सर लोग ट्रेन के गेट में बैठ कर सफर करते है यह रेलवे एक्ट का उलंघन है इसके लिए आर्थिक दण्ड या कारावास की सजा भी हो सकती है।