स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कमिश्नर की सलाह- सिंचाई जलाशयों में उपलब्ध जल का बेहतर सदुपयोग हो, नहीं तो

Jayant Kumar Singh

Publish: Nov 18, 2019 22:02 PM | Updated: Nov 18, 2019 22:02 PM

Bilaspur

रबी हेतु पर्याप्त खाद-बीज की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश


बिलासपुर। बिलासपुर संभाग के सिंचाई बांधों एवं जलाशयों में इस वर्ष जलभराव को देखते हुए 70 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में ग्रीष्मकालीन धान सिंचाई का लक्ष्य रखा गया है। सिंचाई बांधों में वर्तमान में 80 से 90 प्रतिशत जलभराव है। सबसे अधिक 51 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में मिनीमाता हसदेव बांगों परियोजना से सिंचाई का लक्ष्य रखा गया है। संभागायुक्त बीएल बंजारे की अध्यक्षता में सोमवार को संभागीय जल उपयोगिता की बैठक सम्पन्न हुई। जिसमें विधायक धर्मजीत सिंह, विधायक प्रतिनिधिगण, सदस्य एवं विभागीय अधिकारी मौजूद थे।
कमिश्नर बीएल बंजारे ने विभागीय अधिकारियों से कहा कि सिंचाई जलाशयों में उपलब्ध जल का बेहतर सदुपयोग सुनिश्चित करें। साथ ही कृषि विभाग रबी के लिये क्षेत्र में खाद-बीज का पर्याप्त भंडारण एवं वितरण सुनिश्चित कराएं। ताकि किसानों को अनावश्यक भटकना न पड़े, वे समय पर खेती कर सकें। उन्होंने संभाग के जिलेवार सिंचाई सुविधा एवं रबी हेतु खाद-बीज की उपलब्धता की समीक्षा की। सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इस वर्ष खरीफ में 490755 हेक्टेयर लक्ष्य के विरुद्ध 410071 हेक्टेयर सिंचाई की गई, जो लक्ष्य का 84 प्रतिशत है। मिनीमाता हसदेव बांगो परियोजना से इस पहली बार एल.बी.सी. से सक्ती क्षेत्र में 10 हजार हेक्टेयर में पानी दिया जा रहा है। इसके लिये किसानों को जागरूक करने विशेष जोर दिया गया। ताकि वे इसका भरपूर लाभ उठा सकें। इस परियोजना के आर.बी.सी. में कोई दिक्कत नहीं है।
धर्मजीत ने उठाया विषय
विधायक धर्मजीत सिंह ने खुडिय़ा बांध में जलभराव के अनुरूप किसानों को सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराने ध्यान आकर्षित कराया। साथ ही उन्होंने विभागीय अधिकारियों से कहा कि सिंचाई का रकबा बढ़ाने के लिये पुराने संरचनाओं की आवश्यक मरम्मत एवं नये परियोजनाओं के लिये प्रस्तावित किया जाना चाहिये। इसके अलावा अन्य विधायक प्रतिनिधियों ने भी अपने-अपने क्षेत्र के सिंचाई सुविधा के संबंध में ध्यान आकर्षित कराया।

[MORE_ADVERTISE1]