स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पूर्व सांसद का बंगला मोह, कमिश्नर ने कहा- पूर्व सांसद जी ये सरकारी आवास खली करो, नए सांसद हैं लाइन में

Murari Soni

Publish: Jul 19, 2019 22:06 PM | Updated: Jul 19, 2019 22:06 PM

Bilaspur

Commissioner order: जुलाई तक बंगला खाली नहीं करेंगे पूर्व सांसद(Former MP's bungalow) तो 50 हजार से अधिक लगेगा जुर्माना

बिलासपुर. पूर्व सांसद लखन लाल साहू(Former MP's bungalow) ने अब तक सरकारी बंगला को खाली नहीं किया है। परिणाम घोषित होने के दो महीने बाद भी ध्यान नहीं दिया गया तो संभागीय कमिश्नर ने 3 जुलाई को नोटिस जारी(Commissioner order) कर बंगला को खाली करने का निर्देश दिए हैं। संभागीय कमिश्नर भरतलाल बंजारे ने बताया सांसद बंगला खाली नहीं करते हैं तो उनको बाजार मूल्य के हिसाब से पेनाल्टी किया जाएगा जो 50 हजार रुपए से अधिक होगा।

लोकसभा चुनाव का परिमाण आए दो महीने हो गया है। लेकिन पूर्व सांसद लखन लाल साहू सरकारी बंगला का मोह नहीं छोड़ पा रहे हैं। सांसद बनने के एक सप्ताह बाद अरुण साव ने तत्कालीन संभागीय कमिश्नर टीसी महावर को पूर्व सांसद के बंगला को पसंद करते हुए उसे खाली कराने की मांग की थी।

इसके बाद उनका तबादला हो गया। नए संभागीय कमिश्नर भरत लाल जांगड़े 3 जुलाई के पूर्व सांसद लखन लाल साहू को बंगला खाली करने के लिए पत्र लिखा था। संभागीय कमिश्नर को पत्र लिखे 16 दिन हो गए हैं लेकिन सांसद बंगला खाली करने का नाम नहीं ले रहे हैं। इधर सांसद अरुण साव ने 1 जुलाई को संभागीय कमिश्नर को पत्र लिखकर बंगले की मांग की है। इससे पहले भी बंगला खाली करने के लिए मौखिक रुप से निर्देश दिए गए थे। इस मामले में सांसद लखन साहू के मोबाइल पर संपर्क किया लेकिन उनसे बात नहीं हो सकी।

संभागीय कमिश्नर भरत जांगडे ने बताया पूर्व सांसद को बंगला(Former MP's bungalow) खाली करने के लिए 1 जलाई को नोटिस दिया है लेकिन अब तक बंगला खाली नहीं किया गया है। नोटिस देने के बाद भी बंगला खाली नहीं होने पर बाजार मूल्य के आधार पर पेनाल्टी किया जाएगा। जो 50 हजार से अधिक हो सकता है। वर्तमान सांसद (Commissioner order) ने बंगला के लिए पत्र लिखा है।