स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

लड़की को बंधक बनाकर रहीसों को परोसी उसकी इज्जत, अब पुलिस बोली इन दरिंदों को पकड़ो हम 35 हजार देंगे

Murari Soni

Publish: Jul 20, 2019 13:17 PM | Updated: Jul 20, 2019 18:54 PM

Bilaspur

Body trade busted: 17 वर्षीय किशोरी(minor girl)को 2 साल तक बंधक(Kidnapping) बनाकर देह व्यापार कराने का मामला

बिलासपुर. बिलासपुर शहर में रहने वाली 17 वर्षीय किशोरी को 2 साल तक बंधक(minor girl kidnapping)बनाकर देह व्यापार कराने के सनसनीखेज मामले(Body trade busted) में फरार 12 आरोपियों को पकड़वाने पर आईजी व एसपी मुंगेली ने 35 हजार रुपए का ईनाम(Police prize) घोषित किया है। घोषणा के बाद पुलिस ने अब तक आरोपियों का नाम सार्वजनिक नहीं किया है। जनता असमंजस में है कि आखिर आरोपी कौन है और किसे पकड़वाने पर पुलिस से ईनाम मिल सकता है।

उधर जैजैपुर विधायक केशव प्रसाद चन्द्रा द्वारा विधानसभा में मामले में की गई कार्रवाई की जानकारी मांगने से पुलिस के हाथ-पैर फूलने लगे हैं। जानकारी के अनुसार बिलासपुर के सरकंडा क्षेत्र में रहने वाली 17 वर्षीय किशोरी को सन 2017 में उसे काम दिलाने का झांसा देकर मुंगेली निवासी दीपक धामेचा अपने साथ मुंगेली ले गया था। वहां किशोरी को दीपक और उसकी पत्नी अंशु पांडेय मिलकर देह व्यापार(body trade)में धकेल दिया।

इस काम में उसके साथ मुंगेली निवासी अज्जू आर्या, बंशी, छोटे गुड्ड़ू, सोनिया उर्फ ज्योति लाडवानी , सूर्या, तखतपुर निवासी धरमू , मुन्ना खान, गोपी और काजल ने दिया था। उसे मुंगेली, रायपुर(raipur) रोड और अन्य स्थानों पर स्थित फार्म हाउस व खेत में ले जाकर देह व्यापार(body trade) कराया गया था आरोपियों ने 2 साल तक डरा-धमकाकर उसके साथ देह व्यापार कराया था। पीडि़ता की शिकायत पर मुंगेली पुलिस को कार्रवाई नहीं की और पीडि़ता को थाने से भगा दिया था। आईजी प्रदीप गुप्ता से शिकायत के बाद मामले में पुलिस ने 27 जून को देर शाम आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज किया था। एफआईआर के बाद से आरोपी फरार हो गए थे।

 

आईजी ने 30 और एसपी ने रखा है 5 हजार का ईनाम (Police prize)
घटना के बाद फरार हुए आरोपियों को पकडऩे में पुलिस के नाकाम रहने पर आईजी प्रदीप गुप्ता ने आरोपियों को पकडऩे या पकड़वाने पर 30 हजार कर ईनाम देने की घोषणा की है। वहीं मुंगेली एसपी सीडी टंडन ने भी आरोपियों को पकड़वाने पर 5 हजार रुपए का ईनाम घोषित किया है।

 

1 आरोपी ने ट्रेन से कटकर की खुदकुशी, 1 आरोपी महिला हो चुकी गिरफ्तार
एफआईआर दर्ज होने के 3 दिनों के बाद 30 जून को आरोपी किराना दुकान संचालक धर्मेन्द्र उर्फ धरमू भारती पिता मुरली भारती ( 25)निवासी बरेला ने चकरभाठा रेलवे स्टेशन में ट्रेन से कटकर खुदकुशी कर ली थी। उसने सुसाइड नोट में मामले में फंसाए जाने की जिक्र किया था। 30 जून को मुंगेली पुलिस ने मामले में आरोपी महिला को उसलापुर स्थित ब्यूटी पार्लर से गिर$फ्तार किया था। आरोपी महिला को पुलिस ने जेल भेज दिया था।

एफआईआर के बाद 3 नाम और जुड़े, फिर भी नाम सार्वजनिक नहीं
मामले में पुलिस ने पीडि़ता की शिकायत पर दर्ज की गई एफआईआर में आरोपी अज्जू आर्या, बंशी, छोटे गुड्ड़ू, सोनिया उर्फ ज्योति लाडवानी , सूर्या, तखतपुर निवासी धरमू , मुन्ना खान, गोपी और काजल का नाम शामिल किया था। पीडि़ता के कोर्ट में धारा 164 के बयान के बाद मामले में पुलिस ने 3 और नाम जोड़े हैं।नए नामों की भी पुलिस ने अब तक अधिकृत घोषणा नहीं की है।

 

आखिर कौन है आरोपी, किसे पकड़वाने पर मिलेगा ईनाम
मुंगेली पुलिस द्वारा आरोपियों को पकड़वाने पर ईनाम मिलने की घोषणा की है। जानता को यह समझ में इतना तो आ गया है कि पुलिस करीब 10 आरोपियों की तलाश कर रही है, लेकिन वह 10 आरोपी कौन हैं जिन्हें पकड़वाने पर उन्हें ईनाम मिल सकता है। पुलिस की ओर से अब तक जनता को अब तक नहीं बताय है कि आरोपी कौन है और किसे पकड़वाना है।

 

बसपा विधायक के सवाल से पुलिस के फूले हाथ-पांव
जांजगीर -चांपा जिले के जैजैपुर विधासभा से बसपा विधायक केशव प्रसाद चन्द्रा ने इस मामले में मुंगेली पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई की जानकारी विधानसभा के मानसून सत्र में मांगी है। विधायक के सवाल से मुंगेली पुलिस के हाथ पांव फूल गए हैं। पुलिस ने जानकारी में बताया है कि मामले में 1 आरोपी गिरफ्तार है और 1 आरोपी ने खुदकुशी कर ली है। शेष फरार आरोपियों की सरगर्मी से तलाश की जा रही है। विधानसभा में किशोरी से देह व्यापार (Body trade busted) मामले में बवाल होने की संभावना है।

फरार आरोपियों को पकड़वाने (minor girl kidnapping) या सुराग देने वाले को मेरे द्वारा 5 हजार रुपए(Police prize) आईजी बिलासपुर द्वारा 30 हजार रुपए ईनाम देने की घोषणा की गई है। आरोपियों के नाम सार्वजनिक नहीं किए जाने की जानकारी नहीं है। ऐसा हुआ (Body trade busted)है तो विभाग की ओर से आरोपियों के नाम सार्वजनिक किए जाएंगे।
सीडी टंडन, एसपी मुंगेली