स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

रेलवे ट्रैक पर अभी भी पड़ा है 200 टन का हैवी क्रेन, अब उठाने आया 400 टन का क्रेन

Murari Soni

Publish: Nov 15, 2019 21:45 PM | Updated: Nov 15, 2019 21:45 PM

Bilaspur

Accident in Bilaspur: गुरुवार रात गिरे क्रेन से बूम को किया गया अलग, अंडरब्रिज के लिए अधिकारियों ने चुचुहियापारा केबिन को आधा तोड़ा

बिलासपुर. चुचुहियापारा अंडर ब्रिज निर्माण के दौरान 13 नवंबर को 170 टन के सीमेंट बॉक्स को उठाते समय 200 टन का क्रेन गिर गया था। भारी भरकम क्रेन को उठाने के लिए गुरुवार रात क्रेन के 60 टन के वजन वाले बूम को अलग किया गया। अब इस क्रेन को उठाने के लिए 400 टन के क्रेन की मदद ली जा रही है। शुक्रवार रात से हैवी क्रेन ने गिरे हुए क्रेन को उठाना शुरू किया। वहीं शुक्रवार को अंडर ब्रिज में 22 सीमेंट के बाक्स को लगाया जाना है। ब्लॉक का अंतिम होने के कारण ठेकेदार और रेलवे अधिकारी समय पर काम पूरा नहीं होने के कारण सकते में हैं।

10 नवंबर से चुचुहियापारा अंडर ब्रिज का निर्माण शुरू हुआ था। ब्रिज के निर्माण में 170 टन वजन वाले सीमेंट के 42 बाक्स को डाला जाना था। 13 नवंबर तक 2 सीमेंट के बाक्स डाले जा चुके थे। 13 नवंबर को शाम करीब पौने 5बजे सीमेंट के बाक्स को उठाते समय 200 टन का क्रेन रेलवे ट्रैक पर गिर गया था। घटना में रेलवे के अधिकारी व ठेकेदार समेत 10 लोग घायल हो गए थे। क्रेन को हटाने के लिए दूसरे दिन तक अधिकारियों ने मशक्कत की लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। गुरुवार रात रेलवे अधिकारियों के आदेश पर गिरे क्रेन के 60 टन के बूम को निकालकर अलग किया गया। निर्माण कार्य में लगे दूसरे 400 टन के वजन वाले क्रेन की मदद से गिरे हुए क्रेन को उठाना शुरू किया गया। देर रात तक अधिकारी और कर्मचारी क्रेन को उठाने की मशक्कत करते रहे।

[MORE_ADVERTISE1]