स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मा.शि.बोर्ड की पूरक परीक्षाएं 1 अगस्त से

Nikhil Swami

Publish: Jul 20, 2019 17:07 PM | Updated: Jul 20, 2019 17:07 PM

Bikaner

supplementary exam in secondary माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की माध्यमिक व उच्च माध्यमिक कक्षाओं की सत्र 2018-19 की पूरक परीक्षाएं एक अगस्त से शुरू होगी। इन परीक्षाओं के संचालन के लिए माध्यमिक शिक्षा निदेशालय में राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष स्थापित किया जाएगा।

बीकानेर. माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की माध्यमिक व उच्च माध्यमिक कक्षाओं की सत्र 2018-19 की पूरक परीक्षाएं एक अगस्त से शुरू होगी। इन परीक्षाओं के संचालन के लिए माध्यमिक शिक्षा निदेशालय में राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष स्थापित किया जाएगा।

 

माध्यमिक शिक्षा निदेशालय उपनिदेशक ने इसके आदेश जारी किए है। ये राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष 29 जुलाई से 3 अगस्त तक कार्य करेगा। इस नियंत्रण कक्ष में निदेशालय के 6 कार्मिकों की दो पारियों में ड्यूटी लगाई है जो 6 दिनों तक नियमित रूप से रात्रि 10 बजे तक कार्य करेंगे।

 

स्कूलों में आज से निबंध प्रतियोगिताएं
बीकानेर ञ्च पत्रिका. राज्य के माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक स्कूलों में करगिल विजय की 20वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में कई प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा। ये प्रतियोगिताएं अन्तर विद्यालयी स्तर पर होंगी।

 

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने देशभर में करगिल विजय दिवस मनाने के लिए सभी राज्य सरकारों को निर्देश दिए हैं। स्कूल शिक्षा परिषद के अतिरिक्त राज्य परियोजना निदेशक ने सभी जिला परियोजना समन्वयकों को उनके अधीनस्थ स्कूलों में 20 से 31 जुलाई तक पेंटिंग, निबंध व वाद-विवाद प्रतियोगिताएं आयोजित कराने के निर्देश दिए हैं। प्रतियोगिताओं का विषय 'करगिल के सैनिकों की शौर्य गाथाओं, देश प्रेम, त्याग व बलिदानÓ पर आधारित होंगे।

 

जिला स्तरीय विज्ञान सेमिनार 30 को
बीकानेर. राजस्थान राज्य शैक्षणिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद के तत्वावधान में राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद की ओर से नेहछ विज्ञान केन्द्र मुम्बई के सौजन्य से कक्षा आठ व दस तक के विद्यार्थियों के लिए जिला एवं राज्य स्तरीय विज्ञान सेमिनार 30 जुलाई को होगी। इसका विषय 'रासायनिक तत्वों की आवर्त सारणी: मानव कल्याण पर प्रभावÓ है। इस संबंध में राजस्थान राज्य शैक्षणिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद निदेशक ने सभी जिला शिक्षा अधिकारियों दिशा-निर्देश दिए है।

 

यह सेमीनार पहले २२ जुलाई को होनी थी लेकिन सेमिनार का विषय देरी से प्राप्त होने के कारण अब यह ३० जुलाई को होगी। इसके लिए मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी नोडल अधिकारी के रूप में काम करेंगे।