स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कोडमदेसर भैंरूजी का मेला शुरू, पदयात्री रवाना

Vimal Changani

Publish: Sep 11, 2019 10:35 AM | Updated: Sep 11, 2019 10:35 AM

Bikaner

bikaner news- कोडमदेसर भैंरूजी का तीन दिवसीय मेला मंगलवार से शुरू हो गया। पहले दिन बड़ी संख्या में पदयात्रियों के जत्थे जयकारों के साथ रवाना हुए। डीजे पर भजनों की धुनों पर झूमते-नाचते श्रद्धालु आस्था के साथ भैंरूजी के दर्शन के लिए निकले।

बीकानेर. कोडमदेसर भैंरूजी का तीन दिवसीय मेला मंगलवार से शुरू हो गया। पहले दिन बड़ी संख्या में पदयात्रियों के जत्थे जयकारों के साथ रवाना हुए। डीजे पर भजनों की धुनों पर झूमते-नाचते श्रद्धालु आस्था के साथ भैंरूजी के दर्शन के लिए निकले। बुधवार को भी लोग भैरुंजी जाएंगे। गुरुवार को विशेष पूजा-अर्चना व धार्मिक अनुष्ठान होंगे। भैंरूजी का तेलाभिषेक होगा।

इसके बाद शृंगार कर चूरमे का भोग लगाया जाएगा। रानीसरबास से मंगलवार को पदयात्रियों का जत्था 51 फीट लंबी ध्वजा लेकर रवाना हुए। संघ में दिनेश सोलंकी, मोनू गहलोत, गजानंद सोलंकी, जय प्रकाश सोलंकी के नेतृत्व में करीब ५० सदस्य रवाना हुए। मेले को लेकर मंदिर परिसर को रंगीन रोशनियों से सजाया गया है। मंदिर के बाहर पुलिस प्रशासन की पुख्या व्यवस्था रहेगी।


सेवादार भी सक्रिय: कोडमदेसर पैदल जाने वाले श्रद्धालुओं की सेवा के लिए कई स्थानों पर सेवा शिविर लगाए जाएंगे। इसके लिए विभिन्न संस्थाएं सक्रिय हो गई है। शिविर में चाय, नाश्ता, शीतल जल की व्यवस्था रहेगी।


लट लटियाळो-पट पटियाळो घुघर बाजै छमाक छम
बीकानेर 'म्हारो भैंरूबाबो एेसो रो लाडलोÓ और 'लट लटियाळो-पट पटियाळो घुघर बाजै छमाक छम' सरीखे भजनों और स्तुती गान से मंगलवार को श्रीडूंगरगढ़ स्थित तोलियासर भैरव मंदिर गूंजता रहा। बीकानेर शहर सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे। बीकानेर शहर से पैदल व बसों से पहुंचे यात्रियों ने पूजा-अर्चना की। इस दौरान छोटे बच्चों के जडूला और नवविवाहितों की गठजोड़ के साथ जात लगाने की रस्म निभाई गई।

पटू महाराज, बुलाकी दास बिस्सा, बटुक छंगाणी, देवकिशन जोशी, सुशील कुमार, रतना महाराज, मदन मोहन, दुर्गादास, मग्नेश्वर, शिव कुमार आदि ने रूद्राष्टध्यायी पाठ के बीच भैरवनाथ का अभिषेक-पूजन किया। महाप्रसाद का भीआयोजन हुआ। तोलियासर में बुधवार और गुरुवार को बड़ी संख्या श्रद्धलु पहुंचेंगे।