स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बीकानेर में डॉक्टर के पीछे पड़े हथियारबंद बदमाश, पुलिस ने पीछा किया तो भाग गए

Jai Prakash Gehlot

Publish: Sep 10, 2019 10:06 AM | Updated: Sep 10, 2019 10:06 AM

Bikaner

bikaner news : बीकानेर. कांग्रेस नेता डॉ. तनवीर मालावत के पुत्र डॉ. अनीस मालावत का रविवार देर रात Armed crooks हथियारों से लैस कुछ बदमाशों ने नुकसान पहुंचाने की नीयत से कार व बाइक से पीछा किया। गश्ती दल ने बाइक सवार बदमाशों का पीछा किया, लेकिन वे गलियों से होते हुए भाग गए।

बीकानेर. कांग्रेस नेता डॉ. तनवीर मालावत के पुत्र doctor डॉ. अनीस मालावत का रविवार देर रात Armed crooks हथियारों से लैस कुछ बदमाशों ने नुकसान पहुंचाने की नीयत से कार व बाइक से पीछा किया। डॉ. अनीस ने सूझबूझ से काम लेते हुए श्रीगंगानगर चौराहे पर पुलिस के गश्ती दल को सूचना दी। इस पर गश्ती दल ने बाइक सवार बदमाशों का पीछा किया, लेकिन वे गलियों से होते हुए भाग गए। इस संबंध में डॉ. अनीस ने सदर थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ डराने-धमकाने का मामला दर्ज कराया है।

डॉ. अनीस ने पुलिस को बताया कि वे रानीबाजार स्थित निजी अस्पताल में कैंसर रोग विशेषज्ञ हैं। रविवार रात करीब 12 बजे अस्पताल से घर जा रहे थे। तभी वीर दुर्गादास सर्किल के पास से एक बाइक पर दो और कार में सवार पांच बदमाश उसका पीछा करने लगे, जिससे वे घबरा गया। आरोपियों के पास हथियार भी थे, वे उस पर जानलेवा हमला करने की फिराक में थे। डॉ. अनीस ने बताया कि बदमाशों का भान होने पर वे कार को बीछवाल की तरफ से श्रीगंगानगर सर्किल पर ले गए। वहां गश्ती दल में शामिल एएसआई रामफूल मीणा को बदमाशों के पीछा करने की सूचना दी। आरोप- पुलिस ने नहीं दिखाई गंभीरता

डॉ. अनीस का आरोप है कि पुलिस गाड़ी के सायरन की लाइट निकल गई, जिस पर पुलिस रुक गई। पुलिस ने जैसे-तैसे लाइट सही कर बाइक सवार बदमाशों का पीछा किया, लेकिन तब तक वे भाग गए। सूचना देने के बाद भी पुलिस टालमटोल करती रही। पुलिस की लापरवाही से बदमाश बच निकले। उन्होंने कहा कि वे थाने में आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कराने गए तो वहां पुलिसकर्मियों ने अभद्र व्यवहार किया। एफआइआर लिखने से मना किया। देर रात को ही पुलिस अधीक्षक को जानकारी देने पर मामला दर्ज किया गया।

आरोप बेबुनियाद
एएसआइ रामफूल ने बताया कि डॉ. अनीस की सूचना पर बाइक सवारों का पीछा किया, लेकिन आरोपी पुरानी गिन्नाणी की तंग गलियों में भाग गए। पुलिस ने किसी तरह की टालमटोल नहीं की। पुलिस टीम पर आरोप बेबुनियाद हैं। गाड़ी की हैडलाइट नहीं गिरी थी। सायरन लाइट निकल गई थी, जिसे गाड़ी में रखकर आरोपियों का पीछा किया गया।