स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इन्दिरा गांधी नहर के पटड़े में आया कटाव

Ramesh Bissa

Publish: Jul 20, 2019 11:13 AM | Updated: Jul 20, 2019 11:13 AM

Bikaner

bikaner ignp news- गांव सत्तासर के पास मुख्य इन्दिरा गांधी नहर परियोजना की आरडी ६०6 व ६०7 के बीच नहर के पटड़े में शनिवार शाम आई बरसात से भारी कटाव आ गया।

छत्तरगढ़. गांव सत्तासर के पास मुख्य इन्दिरा गांधी नहर परियोजना की आरडी ६०6 व ६०7 के बीच नहर के पटड़े में शनिवार शाम आई बरसात से भारी कटाव आ गया। मुख्य नहर के पटड़े में आए भारी कटाव को देखते हुए सतासर सरपंच प्रतिनिधि मोहम्मद शरीफ व क्रय विक्रय सहकारी समिति अध्यक्ष बरकत अली परिहार ने सूझबूझ का परिचय देते हुए तुरंत छत्तरगढ़ तहसीलदार सुरेश राव को दूरभाष से मौका स्थिति की सूचना दी। तहसीलदार छत्तरगढ़ सुरेश राव, प्रशिक्षु अधिकारी गिरधारीसिंह व हल्का पटवारी जयसिंह गुर्जर आदि ने मौके पर पहुंच कर नहर के पटड़े में आए कटाव को पुन: भराव करने के लिए जेसीबी मशीन उपलब्ध कराई। ग्रामीणों ने सहयोग करते हुए नहर के पटड़े में आए कटाव का पाट दिया जिससे ग्रामीणों और प्रशासन ने राहत की सांस ली।

 

 

इस मौके पर सरपंच प्रतिनिधि शरीफ ने तहसीलदार को अवगत कराया कि सिंचाई विभाग छत्तरगढ़ अधिकारियों को अनेक बार इस पटड़े के बारे में अवगत कराने के बावजूद इसका निर्माण नहीं करवाया जा रहा है। ग्रामीणों ने सिंचाई विभाग छत्तरगढ़ अधिकारियों के प्रति भारी रोष व्यक्त करते हुए कहा कि अधिकारियों की बार-बार अनदेखी से गांव में बड़ा हादसा होते-होते बचा है।

 

 

खोदे गए गढ्ढों से दुर्घटनाओं का खतरा
देशनोक. राजकीय कासट स्कूल के पास मुख्य मार्ग पर बिजली विभाग द्वारा भूमिगत लाइन बिछाने के लिए 20-25 दिन पूर्व खोदे गए गढ्ढे दुर्घटना को न्योता दे रहे हैं। कस्बे वासी मगनलाल उपाध्याय, पप्पू दान, सांवलदान, विनोद दान, बजरंग शर्मा सहित अनेक जनों ने बताया कि कास्ट स्कूल के पास बिजली विभाग द्वारा भूमिगत केबल बिछाने के लिए जो मुख्य सड़क पर गढ्ढे खोदे थे उन्हें अधूरा ही छोड़ दिया गया है। 20-25 दिनों से काम भी बंद पड़ा है। वे गढ्ढे भरे नहीं गए है, ऐसे ही खुले छोड़े हुए है, खुले गढ्ढे दुर्घटना को न्योता दे रहे हैं।