स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सुकमा के एसपी ने पेश की मानवता की मिसाल, खून देकर बचाई महिला की जान

Karunakant Chaubey

Publish: Jul 11, 2019 18:46 PM | Updated: Jul 11, 2019 18:46 PM

Bijapur

Sukma police: जिला अस्पताल में सीवियर एनीमिया से जूझ रही महिला के लिए पिछले तीन दिन से ब्लड की व्यवस्था नहीं हो पा रही थी। महिला के साथ उसकी तीन माह की बच्ची के अलावा कोई नहीं था

सुकमा. Sukma police: नक्सल इलाके में तैनात जवान आये दिन दो ही वजहों से सुर्ख़ियों में रहे हैं। पहली नक्सलियों के साथ मुठभेड़ या फिर मानवाधिकार उल्लंघन के लिए। लेकिन इस बार उनके चर्चा में आने की वजह सकारात्मक है। सुकमा के पुलिस का एक मानवीय चहरा सामने आया है। जसके कारण उन्होंने लोगों का दिल जीत लिया।

रात में खाना खाकर सोया अध्यापक फिर कभी उठा ही नहीं, जानिये क्या है पूरा मामला

जगदलपुर संभाग के सुकमा जिले के Naxal area तेकेलगुड़ा निवासी एक महिला, बुधरी (26) सीवियर एनीमिया से पीड़ित होने के कारण गंभीर रूप से बीमार है। इसीलिए उसे ब्लड की आवश्यकता थी लेकिन जिला अस्पताल में भर्ती बुधरी के लिए पिछले तीन दिन से ब्लड की व्यवस्था नहीं हो पा रही थी। महिला के साथ तीन माह की मासूम बच्ची के अलावा उसका कोई परिचित नहीं था।

हर पल मंडराता है मौत का साया, यहाँ ज़िन्दगी दावं पर लगाकर पढ़ाते हैं शिक्षक

पुलिस अधिकारियों को सोशल मीडिया पर मैसेज के जरिए महिला की स्थिति की जानकारी मिली। जिसके बाद पुलिस अधीक्षक शलभ सिन्हा ने अस्पताल पहुंचकर बीमार महिला को अपना खून दिया। महिला को दो यूनिट ब्लड की तत्काल आवश्यकता थी। ऐसे में एसपी शलभ सिन्हा के साथ ही एक अन्य जवान ने भी जिला अस्पताल पहुंचकर महिला को अपना खून दिया। अब महिला के स्वास्थ्य में सुधार है।

बहन ने भाई को ऐसे हालात में देखा की रह गयी सन्न

दरअसल नक्सल प्रभावित क्षेत्र तेकेलवाड़ा गांव की रहने वाली ग्रामीण महिला बुधरी को गंभीर स्थिति में तीन दिन पहले जिला अस्पताल में भर्ती किया गया था। जहाँ के बाद पता चला कि उसे सीवियर एनीमिया है। इसके इलाज के लिए तुरंत ब्लड की आवश्यकता थी। लेकिन महिला के साथ केवल उसकी 3 माह की छोटी बच्ची थी। सोशल मीडिया के माध्यम से जैसे ही यह बात (Sukma Police) सुकमा एसपी शलभ सिन्हा को पता चली वो ब्लड डोनेट करने जिला अस्पताल पहुंच गए।

 

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर...
खबरों पर बने रहने के लिए Download करें Hindi news App