स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

चक्रवाती तूफान 'महा' का असर, 23 जिलों में गरज चमक के साथ हो सकती हैं बारिश

Faiz Mubarak

Publish: Nov 07, 2019 18:52 PM | Updated: Nov 10, 2019 14:23 PM

Bhopal

चक्रवाती तूफान ' महा ' का असर कम होने लगा है। लेकिन, जाते जाते इसके प्रभाव से मध्य प्रदेश के 23 जिलों में गरज चमक के साथ बारिश हो सकती हैं।

भाेपाल/ इस बार भारत का वास्ता एक के बाद एक चक्रवाती तूफान से पड़ रहा है, जिसका असर मध्य प्रदेश पर भी पड़ रहा है। 'क्यार' के बाद 'महा' और इसके खत्म होने से पहले ही अब एक और चक्रवाती तूफान बुलबुल सक्रीय हो गया है। फिलहाल, सक्रीय चक्रवाती तूफान 'महा' का प्रभाव प्रदेश से कमजोर हुआ है हालांकि, जाते जाते इसका प्रभाव देखने को मिल सकता है। भोपाल स्थित मौसम विज्ञान केन्द से मिली जानकारी के अनुसार, इसके प्रभाव से मध्य प्रदेश के 23 जिलों में गरज चमक के साथ बौछारें पड़ सकती हैं।

 

पढ़ें ये खास खबर- पातालकोट और नरो हिल्स को मिली दुनियाभर में पहचान, इस खास विरासत को सहेजेगी सरकार


इन जिलों में बारिश की संभावना

मौसम विभाग के अनुमान के अनसार आगामी 24 घंटों में मध्य प्रदेश के खंडवा, खरगौन, बुरहानपुर, धार, इंदौर, अलीराजपुर, झाबुआ, देवास, बड़वानी, उज्जैन, नीमच, रतलाम, शाजापुर, आगर, मंदसौर, भोपाल, सीहोर, बैतूल, हरदा, गुना, अशोकनगर, शिवपुरी, और श्योपुरकला जिलों में गरज चमक के साथ बौछारें पड़ सकती हैं। हालांकि, इनके अलावा शेष बचे जिलों में मौसम शुष्क रहेगा।

[MORE_ADVERTISE1]चक्रवाती तूफान 'महा' का असर, 23 जिलों में गरज चमक के साथ हो सकती हैं बारिश[MORE_ADVERTISE2]

बारिश के बाद तूफानों ने भी बनाया रिकॉर्ड

माैसम विभाग के मुताबिक, ये एक आम बात है कि, कुछ दिनों या महीनो के अंतराल से चक्रवाती तूफान आते रहते हैं। लेकिन, ऐसा पहली बार हो रहा है कि, जब एक के बाद एक लगातार तीन तूफान बने हैं। इसके अलावा पिछले 11 महीनों में आने वाले तूफानों में बुलबुल सातवां तूफान हाेगा। वरिष्ठ माैसम वैज्ञानिक ए.के शुक्ला के मुताबिक, पिछले 129 सालों में एेसा तीसरी बार हाेगा जब दशक में सबसे ज्यादा 99 तूफान बने। इससे पहले 1970 से 1979 के दशक में 110 अाैर 1960 से 1969 के दशक में 99 तूफान आए थे।

[MORE_ADVERTISE3]चक्रवाती तूफान 'महा' का असर, 23 जिलों में गरज चमक के साथ हो सकती हैं बारिश

अब तक ऐसा रहा मौसम

मौसम विभाग के मुताबिक, बीते 24 घंटो में प्रदेश के उज्जैन और भोपाल संभागों के जिलों में कहीं कहीं हल्की बारिश दर्ज की गई है। बाकि, बचे जिलों में मौसम साफ रहा। साथ ही, प्रदेश के मंडला, सीधी और रीवा में सबसे कम 14 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। इसके अलावा, चंबल संभागों के सभी जिलों में सामान्य से ज्यादा तापमान दर्ज किया गया। वहीं, अन्य संभागों में कोई खास परिवर्तन नज़र नहीं आया।

 

पढ़ें ये खास खबर- लॉग ड्राइव पर संभाल कर रखें टोल की रसीदें, मिलेंगे ये खास फायदे


दिन में चटकी धूप रात को ठंड का अहसास

भोपाल समेत पूरे प्रदेश के मौसम में लगातार उतार-चढ़ाव का सिलसिला जारी है। इसका कारण बताते हुए माैसम विभाग ने बताया कि, फिलहाल ये अरब सागर में बने चक्रवाती तूफान के कारण है। आगे आने वाले एक और तूफान के कारण प्रदेश के मौसम में उतार चढ़ाव देखा जाएगा, फिलहाल ये डिप्रेशन की स्थिति में है। हालांकि, अनुमान है कि, अगर हवाओं का रुख इस ओर रहा तो अगले 48 घंटों के भीतर ये पूरी तरह चक्रवाती तूफान का रूप ले लेगा, जिसका असर प्रदेश पर पड़ सकता है।