स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नेताओं के साथ आए अवैध हॉकर्स, नारेबाजी की और लगा ली दुकानें

KRISHNAKANT SHUKLA

Publish: Oct 21, 2019 15:40 PM | Updated: Oct 21, 2019 15:40 PM

Bhopal

दिवाली के ठीक पहले न्यू मार्केट स्थायी दुकानदारों और अवैध हॉकर्स के बीच रणभूमि बन गया है। गुरुवार को अवैध हॉकर्स शाम को बाजार में एकत्रित हुए और प्रशासनिक कार्रवाई का विरोध किया। इसमें स्थानीय नेता भी शामिल थे।

भोपाल. दिवाली के ठीक पहले न्यू मार्केट स्थायी दुकानदारों और अवैध हॉकर्स के बीच रणभूमि बन गया है। गुरुवार को अवैध हॉकर्स शाम को बाजार में एकत्रित हुए और प्रशासनिक कार्रवाई का विरोध किया। इसमें स्थानीय नेता भी शामिल थे। अवैध हॉकर्स की बड़ी संख्या देख निगम का अतिक्रमण अमला सिर्फ मूकदर्शक की भूमिका में रहा। सहायक आयुक्त संध्या चतुर्वेदी अमले के साथ टीटी नगर थाने पुलिस बल की मांग को लेकर पहुंची। एसपी को पुलिस बल के लिए पत्र लिखा है।


संभवत: सोमवार को पुलिस बल मिलने के बाद न्यू मार्केट में अवैध हॉकर्स के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की जा सकती है। गौरतलब है कि न्यू मार्केट के स्थायी दुकानदारों ने अवैध हॉकर्स को हटाने की मांग को लेकर बाजार बंद किया था। इसमें निगम अफसरों ने व्यापारियों से चर्चा की। अवैध हॉकर्स से बाजार को पूरी तरह मुक्त कराने के आश्वासन के बाद बाजार खुला, लेकिन निगम की टीम के रवाना होते ही अवैध हॉकर्स फिर जम गए। रविवार को भी ये जमे रहे।

अब व्यापारी अवैध हॉकर्स की समस्या से मुक्ति पाने मंत्री पीसी शर्मा से मिलने की बात कह रहे हैं। बाजार में 1200 स्थायी दुकानें है, जबकि इतनी ही अस्थायी दुकानें लग जाती है।

हनुमान चौक से हटाए हॉकर्स, गणेश चौक पर कार्रवाई नहीं

निगम की टीम रविवार को अवैध हॉकर्स के खिलाफ कार्रवाई करने पहुंची। टीम ने हनुमान चौक पर लगी छोटी और चलती-फिरती दुकानों को हटाया, लेकिन हैरत ये कि गणेश चौक पर एक भी दुकान नहीं हटाई। यहां विशाल बेल्ट सेंटर के सामने की लाइन में प्रतिदुकान 10 गुणा 10 यानि 100 वर्गफीट आकार की है। यहां लाइन से दस दुकानें हैं, यानि एक हजार वर्गफीट की जगह घेर रखी है। बताया जा रहा है कि इन्हें मौजूदा सरकार के एक मंत्री का समर्थन है, जिससे कार्रवाई नहीं की जाती।

इनोवा से आते हैं राठौर ब्रदर्स वसूली करने

बताया जा रहा है कि बाजार में अवैध हॉकर्स के एक गुट को राठौर ब्रदर्स संरक्षण देते हैं। दो भाई, इनोवा से वसूली करने आते हैं। ये रोजाना इस एक भाग से 50 हजार रुपए की वसूली करते हैं।

हम अब मंत्री और शासन स्तर पर चर्चा करेंगे। जिस आश्वासन की वजह से बंद वापिस लिया था, उसे पूरा नहीं किया गया। जिंदाबाद, मूर्दाबाद के नारे लगाकर अवैध हॉकर्स फिर से बाजार में जम गए।
- सतीश गंगराड़े, अध्यक्ष, न्यू मार्केट व्यापारी