स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सीएम कमलनाथ का भांजा रतुल पुरी गिरफ्तार, 354 करोड़ के बैंकिंग घोटाले का है आरोप

Pawan Tiwari

Publish: Aug 20, 2019 10:32 AM | Updated: Aug 20, 2019 13:44 PM

Bhopal

  • मोजर बेयर के तत्कालीन कार्यकारी निदेशक रतुल पुरी के खिलाफ शनिवार को सीबीआई ने केस दर्ज किया था।
  • अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर डील 3,600 करोड़ रुपये के मनी लॉन्ड्रिंग का मामला है।

नई दिल्ली/भोपाल. मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमल नाथ ( Kamal Nath ) के भांजे रतुल पुरी ( ratul puri ) को मंगलवार सुबह प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गिरफ्तार कर लिया है। रतुल पुरी पर बैंक से फर्जीवाड़े का आरोप है। रतुल पुरी पर सेंट्र्ल बैंक ऑफ इंडिया से 354 करोड़ रुपए के घोटाले का आरोप है। इसे मामले में उन्हें गिरफ्तार किया गया है। जानकारी के अनुसार, रतुल पुरी की गिरफ्तारी मंगलवार रात 1 बजे के करीब की गई है।

 

इसे भी पढ़ें- सीएम कमलनाथ के भांजे और बहनोई पर अगस्ता वेस्टलैंड मामले में बड़ी कार्रवाई

 

 

 

कमल नाथ के भांजे हैं रतुल पुरी
नीता पुरी मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ की बहन हैं और रतुल पुरी कमलनाथ के भांजे हैं। रतुल पुरी अगस्ता वेस्टलैंड मामले में अग्रिम जमानत मिली हुई है। रतुल पुरी की गिरफ्तारी पर कांग्रेस नेता हरीश रावत ने कहा कि मोदी सरकार सरकारी एजेंसियों का गलत यूज कर रही है।


कमलनाथ ने कहा ये साजिश है
वहीं, मध्यप्रदेश के सीएम कमलनाथने मामले में सफाई देते हुए कहा- ये साजिश है। मेरा उनके व्यापार से कोई संबंध नहीं है।

धोखाधड़ी का मामला दर्ज
जांच एजेंसी के अधिकारी के मुताबिक, एमबीआईएल के प्रबंध निदेशक दीपक पुरी, कंपनी में पूर्णकालिक निदेशक उनकी पत्नी नीता पुरी, एमबीआईएल के पूर्व कार्यकारी निदेशक और उनके बेटे रतुल पुरी के खिलाफ शनिवार को धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया था। कंपनी के निदेशक संजय जैन, विनीत शर्मा और अन्य अज्ञात सरकारी कर्मचारियों और अन्य व्यक्तियों के खिलाफ भी आपराधिक साजिश रचने का मामला दर्ज किया गया।

 

इसे भी पढ़ें- सिंधिया खेमे की मंत्री ने कमलनाथ सरकार पर बोला हमला, कहा- अब अपनी बात किसे सुनाऊं


सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया ने की थी शिकायत
यह मामला सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की शिकायत पर दर्ज किया गया था। बैंक ने शिकायत के अनुसार रतुल पुरी की कंपनी 2009 से विभिन्न बैंकों से लोन ले रही थी और कई बार पुनर्भुगतान की शर्तों में बदलाव करा चुकी थी। बैंक की यह शिकायत अब सीबीआई की एफआईआर का हिस्सा है। सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया ने खाते को 20 अप्रैल को 'फर्जी' घोषित कर दिया था। बैंक का दावा है कि कंपनी और उसके निदेशकों ने सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया से फंड जारी कराने के लिए नकली और जाली दस्तावेजों का प्रयोग किया था।

 

 


भाजपा ने साधा निशाना
मध्यप्रदेश भाजपा के प्रवक्ता हितेश वाजपेयी ने रतुल पुरी की गिरफ्तारी के बाद सीएम कमलनाथ पर निशाना साधा है। हितेश वाजपेयी ने कहा- कमलनाथ जी के भांजे रतुल पुरी की गिरफ्तारी से स्पष्ट है कि वो और उनका परिवार "ऑगस्टा वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर घोटाले" से जुड़े हैं ? बड़ा दुखद है कि कमलनाथ जी "जनादेश के बिखराव" का लाभ उठाकर "अनैतिक" तरीके से मुख्यमंत्री पद पर बैठे हैं। राहुल गांधी जी को चाहिए कि अब कम से कम वो कांग्रेस की कमान सिंधिया जैसे नेता को सौंपे और जांच मे सहयोग करें।

पुरी पर कथित तौर पर रिश्वत लेने का आरोप
अगस्तावेस्टलैंड मामले में भी रतुल पुरी से पूछताछ की जा रही है। रतुल पुरी पर उनकी कंपनी के जरिए कथित तौर पर रिश्वत लेने का आरोप है। ईडी का आरोप है कि रतुल की कंपनी से जुड़े खातों का उपयोग रिश्वत लेने के लिए किया गया। इससे पहले मध्यप्रदेश के सीएम कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी और बहनोई दीपक पुरी पर आयकर विभाग ( Income-Tax Department ) ने अगस्ता वेस्टलैंड केस में बड़ी कार्रवाई की गई थी। दोनों की कई संपत्तियों को आयकर विभाग ने अटैच किया था। दोनों अगस्ता वेस्टलैंड केस में जांच एजेंसियों के रडार पर हैं। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले मध्यप्रदेश में भी इनके ठिकानों पर छापे पड़े थे। कुछ दिन पहले ही दिल्ली के एक कोर्ट से रतुल पुरी के खिलाफ वारंट भी जारी हुआ था।