स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कोहरे की चपेट में प्रदेश, अचानक गिरा 6 डिग्री पारा, 22 साल बाद अक्टूबर में पड़ी इतनी ठंड

Faiz Mubarak

Publish: Oct 21, 2019 14:40 PM | Updated: Oct 21, 2019 14:40 PM

Bhopal

रविवार के बाद अब सोमवार को भी राजधानी के मौसम किसी हिल स्टेशन की तरह नज़र आ रहा है। चारों और छाए बादल और रुक रुककर हो रही बारिश के बीच सर्द हवाओं के कारण तापमान में तेजी से गिरावट हो रही है

भोपाल/ मध्य प्रदेश से मॉनसून जाते ही ठंड की चादर ओढ़ना शुरु कर दी है। तापमान गिरने का सिलसिला लगातार जारी है। पिछले दो दिनों से प्रदेश के कई हिस्सों में कोहरे और धुंध ने जमघट लगा रखी है। साथ ही, रुक-रुककर बूंदाबांदी का सिलसिला भी जारी है। रविवार के बाद अब सोमवार को भी राजधानी के मौसम किसी हिल स्टेशन की तरह नज़र आ रहा है। चारों और छाए बादल और रुक रुककर हो रही बारिश के बीच सर्द हवाओं के कारण तापमान में तेजी से गिरावट हो रही है, जिसने रविवार शाम को राजधानी वासियों को कंपकंपा दिया।

 

पढ़ें ये खास खबर- इन जिलों पर अब भी गरज-चमक के साथ बारिश और बिजली गिरने का खतरा


टूटा 22 साल का रिकॉर्ड

राजधानी में रविवार को सुबह से शाम तक 0.8 मिमी बारिश दर्ज की गई, जिसके चलते यहां अधिकतम पारा सामान्य से 7 डिग्री नीचे लुढ़ककर 25.5 डिग्री पर जा पहुंचा। अचानक हुए इस बदलाव के बाद रविवार इस सीजन का सबसे ठंडा दिन दर्ज किया गया। बता दें कि, इससे पहले 4 अक्टूबर 2013 को पारा इस स्तर पर पहुंचा था। जबकि, 22 साल बाद अक्टूबर के ही दूसरे पखवाड़े में प्रदेश की मौसम इतना सर्द हुआ है। इससे पहले 31 अक्टूबर 1997 को दिन का तापमान 25.4 डिग्री पर था। कुल मिलाकर देखा जाए, तो पिछले 72 घंटों में तापमान में 5.6 डिग्री गिरावट दर्ज की गई है और इसमें गिरावट का सिलसिला अभी जारी है।

 

पढ़ें ये खास खबर- छोटी हाइट से हैं परेशान? दिनचर्या में शामिल करें ये आसान डाइट फिर देखें कमाल


दिन और रात के तापमान में लगातार बढ़ कहा अंतर

मौसम विशेषज्ञों के अनुसार, अरब सागर में बने जिस कम दबाव के क्षेत्र के असर से प्रदेश के कई हिस्सों सहित भोपाल में मौसम में ठंडक बढ़ी है। कम दबाव का ये क्षेत्र अब ओमान की ओर रुख कर रहा है। इससे मंगलवार से बादलों का असर कम होना शुरू होगा। हालांकि इससे तापमान में कमी आने से सर्दी का जोर बढ़ेगा। मौसम वैज्ञानिक पीके साहा के अनुसार, रविवार काे दिन और रात के तापमान में 5 डिग्री का अंतर दर्ज किया गया। ऐसे में अनुमान लगाया जा रहा है कि, जिस तरह तापमान में गिरावट दर्ज की जा रही है, उस हिसाब से दीपावली तक रात का तापमान 21.6 डिग्री से घटकर 16 से 18 डिग्री के बीच आ जाएगा, जिससे कई इलाकों में ठिठुरन बढ़ जाएगी।

 

पढ़ें ये खास खबर- कहीं आप तो नहीं पी रहे ये मिलावटी दूध? जानलेवा है ये, सामने आई सच्चाई


लगातार कम हो रही है दृश्यता

नमी बढ़ने के कारण प्रदेश के कई इलाकों में धुंध बढ़ रही है, जिससे दृश्यता दिनोंदिन कम होती जा रही है। बता दें कि, आमतौर पर वातावरण में विजिबिलिटी पांच से सात किमी रहती है, जो रविवार को सिर्फ 1200 मीटर ही रह गई थी। दिन में सामान्य स्तर पर पहुंचने के बाद शाम को बादल छाने से इसमें फिर गिरावट हुई और ये 2500 मीटर तक आ गई।