स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

टिकट के लिए भतीजे के साथ मिलकर किया ऐसा काम, सीआईडी ने किया गिरफ्तार

Chandra Prakash sain

Publish: Sep 12, 2019 20:08 PM | Updated: Sep 12, 2019 20:10 PM

Bhiwani

Haryana: चरखी दादरी जिले में एक बीजेपी नेता को फर्जी तरीके से टिकट मांगना महंगा पड़ गया

भिवानी. लोग नेता बनने के लिए क्या-क्या कर सकते है, एेसा एक और उदाहरण हरियाणा में सामने आया। हरियाणा में विधानसभा चुनाव होने वाले है, जिसके लिए एक ओर टिकट पाने वाले नेताओं के चक्कर लगा रहे है। वहीं एक नेताजी ने बड़े नेताजी के लेटर हेड पर अपने लिए टिकट की सिफारिश कर मुख्यमंत्री तक पहुंचा दी। बाद में कारनामे का खुलासा हुआ तो सीबीआई ने रिमांड पर ले लिया।

हरियाणा के चरखी दादरी जिले में एक बीजेपी नेता को फर्जी तरीके से टिकट मांगना महंगा पड़ गया। नेता ने पुलिस विभाग में कार्यरत अपने भतीजे के साथ मिलकर गृह मंत्री अमित शाह के फर्जी लेटर हेड पर सीएम के नाम विधानसभा चुनाव में टिकट देने के लिए सिफारिश पत्र लिखकर सीएम को सौंप दिया। सीआईडी ने मामले का खुलासा करते हुए बीजेपी नेता और उसके भतीजे को गिरफ्तार किया है। यह पत्र एक सितम्बर को दादरी में पहुंची सीएम की जन आशीर्वाद रैली के दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को सौंपा गया था। रोहतक सीआईडी के डीएसपी अजीत सिंह के नेतृत्व में टीम ने कार्रवाई करते हुए चरखी दादरी जिले के गांव सांवड़ निवासी बीजेपी नेता हरिओम भारद्वाज व उसके भतीजे पुलिसकर्मी गोपाल को गिरफ्तार कर दो दिन के रिमांड पर लिया है।

वहीं भाजपा जिलाध्यक्ष रामकिशन शर्मा ने बताया कि उन्हें इस मामले की जानकारी मिली है। केंद्रीय गृहमंत्री का फर्जी लेटर हेड तैयार कर जिस हरिओम को टिकट देने की बात कही गई है, उसका बीजेपी से कोई लेनादेना नहीं है। हरिओम के पास तो बीजेपी की सामान्य सदस्यता भी नहीं है। आरोपी का बीजेपी से कोई लेना-देना नहीं है।

पूछताछ दोनों ने कबूल किया कि दादरी विधानसभा से टिकट पाने के लिए उन्होंने यह सब किया।
वहीं भाजपा जिलाध्यक्ष रामकिशन शर्मा भले ही हरिओम भारद्वाज को बीजेपी का सामान्य सदस्य होने से भी इंकार कर रहे हो मगर पिछले काफी समय से हरिओम भारद्वाज चुनाव की तैयारियों में जुटे थे। उनहोंने अपना जनसम्पर्क अभियान शुरू किया हुआ था। वे अकसर बीजेपी के स्थानीय कार्यक्रमों में मौजूद रहते थे। हरिओम किसान है और वह अपने चुनाव को लेकर भी यहीं प्रचार करता था कि अबकी बार किसान ही लोगो की पहली पसंद है।

हरियाणा की ताजा खबरों के लिए क्लिक करें