स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

तेरहवीं में रची साजिश और दो दिन में पकड़े डकैत

shyamendra parihar

Publish: Dec 16, 2017 18:51 PM | Updated: Dec 16, 2017 18:51 PM

Bhiwadi

पूर्व पार्षद के घर डकैती की साजिश रचने के तीन आरोपी पकड़े, सशस्त्र डकैती के तीन आरोपी गिरफ्तार, एक लाख रुपए नकद व सोने के गहनों सहित चार लाख का माल जब

भिण्ड. गोहद नगर के बरथरा रोड इलाके में पूर्व पार्षद के घर १३-१४ दिसंबर की दरम्यिानी रात डकैती की वारदात को अंजाम देने के तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर उनके कब्जे से एक लाख रुपए एवं पूर्व पार्षद के घर से लूटे गए सोने के आभूषण जब्त कर लिए हैं। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि डकैती का षडय़ंत्र ग्वालियर के लक्ष्मणगढ़ में आयोजित एक तेरहवीं कार्यक्रम के दौरान रचा गया था। वारदात के वक्त साहस दिखाकर एक आरोपी को पकडऩे वाले पूर्व पार्षद के भतीजे एवं पड़ौसी को गणतंत्र दिवस के मौके पर सम्मानित किया जाएगा।

पुलिस ने पूर्व पार्षद अशोक बाथम के घर डकैती की वारदात को अंजाम देने के आरोपी रवि गुर्जर पुत्र भारत सिंह गुर्जर निवासी लक्ष्मणगढ़ जिला ग्वालियर, रट्टी गुर्जर पुत्र मायाराम सिंह गुर्जर निवासी प्रगति विहार कॉलोनी गोले का मंदिर ग्वालियर, जीतू उर्फ जितेंद्र सिंह पुत्र शैतान सिंह गुर्जर निवासी घटवरिया का पुरा नरेश्वर मुरैना को गिरफ्तार कर लिया है। उसके चौथे साथी बल्लो पुत्र शैतान सिंह गुर्जर निवासी लक्ष्मनगढ़ हाल मुच्छड़ का पुरा महाराजपुरा ग्वालियर की गिरफ्तारी के लिए प्रयास तेज किए हैं।

श्योपुर, मुरैना, दतिया एवं ग्वालियर में भी कर चुके हैं वारदातें

पुलिस के अनुसार रट्टी गुर्जर, जीतू उर्फ जितेंद्र गुर्जर, रवि गुर्जर तथा बल्लो गुर्जर भिण्ड के अलावा श्योपुर, ग्वालियर, मुरैना एवं दतिया में भी इस तरह की वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। गोहद में पूर्व पार्षद अशोक बाथम के घर डकैती का षडय़ंत्र मृत्युभोज के कार्यक्रम में बनाया था। विदित हो कि रट्टी गुर्जर ०२ नवंबर को ही दतिया जेल से जमानत पर रिहा हुआ था जबकि रवि गुर्जर तथा जीतू उर्फ जितेंद्र सिंह २८ नवंबर को ग्वालियर जेल से रिहा हुए थे। पुलिस गिरफ्त में आने के बाद आरोपियों ने बताया कि पूर्व में किए अपराध में न्यायालय में चल रहे प्रकरणों पर जो खर्च हो रहा है उसे वे वहन नहीं कर पा रहे थे। वकीलों को फीस देने व अन्य खर्चे पूरे करने के उद्देश्य से गोहद में डकैती का षडय़ंत्र रचा था।

ज्वेलर्स को विक्रय कर दिए थे गहने

आरोपियों ने खुच्चन सोनी तथा उसकी पत्नी रेखा सोनी को आभूषण विक्रय कर दिए थे। आरोपियों की निशानदेही पर सभी गहने खुच्चन सोनी के घर से जब्त किए गए। एसपी के अनुसार पति पत्नी पूर्व में भी चोरी के गहने खरीदने के आरोप में जेल जा चुके हैं।

पुलिस ने रवि की निशानदेही से दबोचे उसके शेष दो साथी0

वारदात के दौरान पूर्व पार्षद अशोक बाथम के भतीजे अभिषेक एवं पड़ोसी लाल सिंह बाथम द्वारा साहस दिखाकर एक सशस्त्र बदमाश रवि गुर्जर को पकड़ा था, जिसे पुलिस के सुपुर्द कर दिया। पुलिस ने आरोपी रवि से पूछताछ करने के उपरांत उसकी निशानदेही पर न केवल उसके दो साथी जीतू उर्फ जितेंद्र गुर्जर, रवि गुर्जर को बरेठा पुलिस के पास से गिरफ्तार कर लिया बल्कि उनके कब्जे से नकदी, जेवर के अलावा एक कट्टा, दो कारतूस, कुल्हाड़ी भी जब्त कर ली है।