स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पहले किया इंतजार, नहीं बनी बात तो फिर उठाया हथौड़ा

Rajeev Goswami

Publish: Sep 15, 2019 09:03 AM | Updated: Sep 14, 2019 23:21 PM

Bhind

पूर्व मंत्री ने कालेज भवन तोडऩा शुरू किया तो अन्य अतिक्रमण पर भी चलने लगा हथौड़ा, सोमवार से बजरिया बाजार में धारा 144 लागू, कार्रवाई लगने तक रहेगी जारी

भिण्ड. शहर के बजरिया बाजार में चिह्नित दो सैकड़ा से अधिक अतिक्रमणों को हटाने के लिए 24 घंटे की म्याद खत्म हो जाने के बाद नपा ने शनिवार को एक फिर बजरिया में सुबह 9 बजे से देर शाम तक ई- रिक्शे से एनांउसंमेट करा कर अतिक्रमण हटाने की चेतावनी दी। पहले तो लोग कहीं न कहीं से कोई राहत मिलने की उम्मीद लगाए बैठे थे लेकिन जैसे ही पूर्व मंत्री चौ. राकेशसिंह ने अपने चौ. दिलीपसिंह कन्या कॉलेज के भवन को लेबर लगाकर तुड़वाना शुरू किया तो आसपास के अन्य भवन स्वामियों की भी अतिक्रमण पर हथौड़ा चलाना शुरू कर दिया।

कालेज को डेढ़ फीट अतिक्रमण का नोटिस दिया गया है। 11 बजे के आसपास हनुमान मंदिर से आगे आधा सैकड़ा से अधिक मकानों में तोडफ़ोड़ शुरूहो चुकी थी।

नपा ने राजस्व विभाग की ओर से दी गई सीमांकन रिपोर्ट के आधार पर बजरिया में 230 भवन स्वामियों को नोटिस जारी किए हैं। इधर प्रशासन ने सोमवार से होने जा रही कार्यवाही के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए गोल मार्केट से लेकर किला गेट तक करीब एक किमी क्षेत्र में धारा 144 लागू कर दी है। निषेधाज्ञा अतिक्रमण हटने तक जारी रहेगी। नपा ने भी अतिक्रमण हटाने तथा तुरंत ही मलवा हटाने की कार्ययोजना तैयार कर ली है। यहां बता दें कि नपा द्वारा सुबह से शाम तक स्वत: अतिक्रमण हटाने का एनाउंसमेंट कराया जाता रहा।

सुप्रीम कोर्ट का स्टे, फिर भी दे दिया नोटिस, कलेक्टर को दिया आवेदन

बजरिया में कुसुम देवी दुबे पत्नी अशोक दुबे, अशोक दुबे विश्वेसर दयाल दुबे का गल्र्सस्कूल वाली गली के सामने सर्वे नं.3726 में 540 वर्गफीट में दुकानें बनी हुई है। कुसुम दुबे ने बताया कि उन्हें भी नपा की ओर से अतिक्रामक बताया है। प्रकरण क्रं. एसएलए सिविल सीसी 11915/2010 में सुप्रीम कोर्ट की ओर से 16 अगस्त 2010 को स्टे आर्डर पारित था। कुसुम दुबे ने बताया कि स्टे आर्डर अभी भी प्रभावशील है। यदि उनके मकान को तोड़ा गया तो वे अवमानना याचिका दायर करने को मजबूर होंगी। उन्होंने बताया कि स्टे आर्डर से कलेक्टर को अवगत करा है।

कलेक्टर बोले- 1940 के बाद का दस्तावेज है तो बताओ

शनिवार को एक दर्जन से अधिक पीडि़तों ने कलेक्टर छोटेसिंह से मुलाकात की और अपने दस्तावेज भी उनके सामने रखे। लेकिन कलेक्टर ने साफ शब्दों में कह दिया कि 1940 के बाद का कोई दस्तावेज स्टे आर्डर है तो बताओ हम विचार करेंगे। मुकेश जैन, रपरिया ब्रदर्श, अशोक दुबे-कुसुम दुबे ने अपने स्टे आर्डर पेश किए हैं। कलेक्टर छोटेसिंह ने नपा को इनपर विचार करने तथा फिलहाल न तोडऩे के निर्देश दिए है।

-कुछ लोगों ने बजरिया में एनांउसमेंट कराने के बाद स्वयं ही अतिक्रमण हटाने शुरू कर दिए है। कुछ प्रभावशाली लोगों की ओर से पहल कि या जाना स्वागत योग्य है। लोग स्वयं तोड़ लेंगे तो नुकसान कम होगा। मशीन से नुकसान ’यादा होने की संभावना है।

सुरेंद्र शर्मा सीएमओ भिण्ड

-सोमवार से शुरू होने जा रही अतिक्रमण की कार्रवाई के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए धारा 144 लागू कर दी गई है। नपा, राजस्व और पुलिस के अधिकारी भी सोमवार को मौके पर मौजूद रहेंगे। कार्यवाही सुबह 7 बजे से शुरू हो जाएगी।

मो.इकवाल एसडीएम भिण्ड