स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जीप में बेठ छात्र ने किया मैसेज हो गया मेरा अपहरण

Rajeev Goswami

Publish: Sep 11, 2019 09:03 AM | Updated: Sep 10, 2019 23:43 PM

Bhind

चकरघिन्नी हुई पुलिस, भोपाल स्टेशन पर मिला, संदेश मिलने के बाद परिजनों ने घेरा थाना, शाम छह बजे पुलिस ने खोज लिया छात्र

मालनपुर. क्षेत्र के लहचूरा का पुरा निवासी कक्षा 12वीं का छात्र मंगलवार सुबह 6:15 बजे कोचिंग के लिए घर से निकला था। उसके एक घंटे बाद छात्र ने दोस्त के मोबाइल पर संदेश भेजा कि कुछ लोग उसे जीप में डालकर ले जा रहे हैं। जिसकी सूचना पर परिजनों ने थाना घेर लिया। पुलिस ने सक्रियता पूर्वक सर्चिंग कर शाम छह बजे तक छात्र को भोपाल के रेलवे स्टेशन पर खोज निकाला।

17 वर्षीय छात्र अभिषेक सेंंगर पुत्र कमलेश सेंगर बुधवार सुबह छह बजे गोहद चौराहे पर नानी के घर पर रह रही मां अनीता से एक हजार रुपए फीस के नाम पर लिए। 6:15 बजे वह ग्वालियर स्थित कोचिंग पर जाने के लिए बस में बैठा था। डीपीएस के पास बस खराब हो जाने पर वह एक जीप में बैठा और दोस्त प्रशांत धीरेंद्र सिंह के मोबाइल पर संदेश भेजा कि उसे जीप में डालकर ले जाया जा रहा है। वह कहां है जानकारी नहीं है। संदेश देखने के बाद परिजन अन्य ग्रामीणों के साथ मालनपुर थाना पहुंचे जहां छात्र की तलाश गंभीरता पूर्वक करने की मांग लेकर ग्रामीणों ने पहले केडबरी के निकट हाईवे पर उसके बाद हरीराम की कुईया के पास ***** जाम करने का प्रयास किया। जानकारी मिलने पर एसपी रूडोल्फ अल्वारेस सुबह ही मालनपुर पहुंचे। एसपी ने सायबर सेल को अलर्ट कर मोबाइल लोकेशन टे्रस कराई। छात्र के लापता होने के बाद आए संदेश की छानबीन की गई। तभी कुछ समय के लिए ग्वालियर में छात्र अभिषेक का मोबाइल बंद हो गया। बाद में वह फिर से ऑन हुआ और उसकी लोकेशन भोपाल और ग्वालियर के बीच प्रदर्शित होने लगी। शाम करीब छह बजे जैसे ही भोपाल में पहुंचकर मोबाइल की लोकेशन एक स्थान पर ठहरी तभी स्थानीय पुलिस की मदद से अभिषेक को रेलवे स्टेशन पर ही पकड़ लिया गया। उल्लेखनीय है कि लापता हुए छात्र अभिषेक सेंगर के ही परिवार का 24 वर्षीय युवक बबलू सेंगर पुत्र हरी सिंह सेंगर का शव सोमवार को यूपी के कानपुर जिला अंतर्गत अरमापुर रेलवे स्टेशन के निकट ट्रैक से बरामद किया गया था। अगले दिन अभिषेक के गायब होने और उसके बाद उसका संदेश मिलने के बाद न केवल उसके परिजन घबरा गए बल्कि पुलिस के भी हाथपांव फूल गए। अभिषेक सेंगर के अनुसार वह परिजनों से गुस्सा होकर चला गया था। ऐसे में उसने गलत संदेश क्यों भेजा यह छात्र के मालनपुर पहुंचने के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा। बहरहाल भोपाल पुलिस ने उसे सुरक्षा में लेकर ग्वालियर के लिए रवाना कर दिया है। छात्र के साथ एक आरक्षक भी भेजा है।

-एक दिन पूर्व इस तरह छात्र के लापता होने के बाद शव मिला था। लिहाजा संदेश को अनदेखा नहीं किया जा सकता था। ऐसे में गंभीरता पूर्व सर्चिंग शुरू की गई जिससे चंद घंटों में ही छात्र को ट्रेस कर लिया गया।

रूडोल्फ अल्वारेस, एसपी भिण्ड