स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भाजपा मंत्री और पूर्व मुख्यमंत्री सिर्फ घडिय़ाली आंसू बहाने के लिए यहां आए हैं : डॉ. गोविंद सिंह

monu sahu

Publish: Sep 18, 2019 16:45 PM | Updated: Sep 18, 2019 16:45 PM

Bhind

प्रदेश के सहकारिता मंत्री ने पत्रकार वार्ता में भाजपा पर जमकर साधा निशाना

भिण्ड। मध्य प्रदेश के सहकारिता मंत्री डॉ गोविंद सिंह ने बुधवार की दोपहर को अपने निवास पर आयोजित पत्रकार वार्ता में कहा है कि केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर व मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भिंड में बाढ़ आपदा से जूझ रहे ग्रामीणों को उडऩ खटोले पर बैठकर देखने आए हैं। जबकि केंद्रीय मंत्री को केंद्र सरकार से जिले में आई इस भीषण आपद के लिए राहत का पैकेज लेकर आना चाहिए था। गोविंद सिंह ने कहा कि मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खुश करने के लिए सरदार सरोवर बांध की ऊंचाई इतनी ज्यादा बढ़ा दी कि उसकी वजह से मध्य प्रदेश के 238 से ज्यादा गांव भयंकर डूब में आ गए हैं और परिवारों पर स्थाई आपदा आयद हो गई है।

यह भी पढ़ें : भाजपा का दिग्गज नेता व प्रदेश अध्यक्ष बोले कश्मीर भारत का मुकुट मणि और ये

पूर्व मुख्यमंत्री चौहान को इसके लिए प्रदेश की जनता से माफी मांगनी चाहिए। डॉक्टर गोविंद सिंह ने कहा कि बाढ़ आपदा से लोगों को बचाने के लिए राष्ट्र निर्माण तथा समाज सेवा की नौटंकी करने वाली आरएसएस कहीं नहीं दिख रही है। भिंड में केवल भाजपा सांसद ने बाढ़ पीडि़तों की सुध ली है, उसके अलावा भाजपा का कोई नेता नहीं दिखा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सेवादल प्रदेश सरकार शासन व प्रशासन के अधिकारी एनडीआरएफ और सेना के जवान पूरी मुस्तैदी से बचाव कार्य में लगे हुए इसी वजह से जिले में किसी तरीके की कैजुअल्टी नहीं हुई।

यह भी पढ़ें : चंबल में आई बाढ़ से 110 गांव घिरे, तोमर और शिवराज थोड़ी देर में करेंगे हवाई सर्वेक्षण

राहत कैंपों में लोगों को पूरी तरह सुविधाएं मिल रही है, सरकार किसी को भूखों मरने नहीं देगी और बाढ़ का प्रकोप खत्म होने के तत्काल 7 दिन के भीतर किसानों का और ग्रामीणों का नुकसान का सर्वे कराया जाएगा और शीघ्र से शीघ्र ने हुए नुकसान की भरपाई राहत राशि देकर की जाएगी। एक सवाल के जवाब में डॉ. गोविंद सिंह ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई की नदी जोड़ योजना अच्छी थी इसे लागू किया जाना चाहिए था, अगर यह हो जाता तो इस तरीके की आपदाएं कम की जा सकती थी।

यह भी पढ़ें : चंबल में आई बाढ़ ने तोड़ा सालों पुराना रिकॉर्ड, हर तरफ पानी ही पानी

चीन में यह प्रयोग किया गया है और वहां काफी सफल रहा है। मध्य प्रदेश के कमलनाथ सरकार बाढ़ प्रभावितों की पूरी चिंता कर रही है जहां-जहां बाढ़ आपदा है वहां बड़ी संख्या में राहत कैंप खोले गए हैं,जिनमें सरकार के अलावा कांग्रेस कार्यकर्ता और कांग्रेस के सेवादल के लोग पीडि़तों की मदद कर रहे हैं। साथ ही उन्हें भोजन पानी खाना वस्त्र आदि उपलब्ध करा रहे हैं। गोविंद सिंह ने कहा कि भाजपा के नेता सिर्फ घडिय़ाली आंसू बहाने के लिए यहां आए हैं। उन्होंने कहा कि संकट के समय में भाजपा नेताओं को राजनीति नहीं करना चाहिए बल्कि सभी को मिलकर पीडि़तों की सेवा का काम करना चाहिए।

minister govind singh statement on Shivraj and narendra singh

राहत मुआवजा दे केंद्र
भिण्ड-सामान्य प्रशासन एवं सहकारिता मंत्री डॉ गोविंद सिंह ने कहा कि भाजपा मंत्री और पूर्व मुख्यमंत्री घडिय़ाली आंसू बहाने का कर रहे हैं काम। अपने आप को समाजसेवी और राष्ट्रीय हितेषी कहने वाला स्वयंसेवक संघ क्यों नहीं आता बाढ़ पीडि़तों की मदद करने के लिए ?। हमारे सेवा दल के लोग जुटे हुए हैं लोगों की सेवा करने में, केंद्र सरकार अगर वास्तव में जनहितैषी है तो राहत मुआवजा के लिये दे समुचित पैसा दे।