स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नहीं रुक रहा चंबल से रेत का अवैध परिवहन, प्रशासन नहीं करता वाहनों को राजसात

Gaurav Sen

Publish: Jul 17, 2019 16:56 PM | Updated: Jul 17, 2019 16:55 PM

Bhind

सुरपुरा व फूप पुलिस ने पकड़े रेत से भरे दो ट्रक

भिण्ड. चंबल से रेत के परिवहन में लिप्त वाहनों के खिलाफ धरपकड़ अभियान नहीं चलाया जा रहा है। ऐसे में वाहन नहीं पकड़े जाने के कारण उनके खिलाफ राजसात किए जाने की कार्यवाही भी नहीं हो पा रही है. जबकि जिले में अटेर क्षेत्र से लेकर फूप सर्किल तक चंबल के करीब आधा दर्जन घाट से निरंतर न केवल रेत का खनन किया जा रहा है बल्कि धड़ल्ले से परिवहन भी हो रहा है।

मंगलवार अल सुबह चंबल से रेत भरकर यूपी के लिए जा रहे बिना नंबर के दो ट्रक सुरपुरा एवं फूप थाना पुलिस ने पकड़ लिए। रेत से भरे दोनों ही ट्रकों को चंबल सेंचुरी टीम के सुपुर्द किया गया है। चंबल सेंचुरी अधिकारियों के अनुसार जब्त दोनों वाहनों को राजसात किए जाने की कार्यवाही प्रस्तावित की जा रही है। चंबल के रेत से भरे ट्रक सुरपुरा फूप मार्ग पर मुखबिर की सूचना पर पकड़ लिए गए थे।

यहां बता दें कि चंबल के खिपोना, अटेर, बरही, चौम्हो, कनेरा, रानीपुरा, ज्ञानपुरा, सांकरी, चिलोंगा, रमा एवं बिजौरा घाट से सशस्त्रमाफिया नदी से रेत का अवैध खनन व परिवहन कर रहे हैं। चंबल सेंचुरी के पास भारी संख्या में बल नहीं होने के चलते टीम खनन और परिवहन पर अंकुश लगाने में नाकाम साबित हो रही है।

स्थानीय ग्रामीणों से रुपयों का लालच देकर करा रहे खनन
माफिया द्वारा बीहड़ में चंबल किनारे बसे स्थानीय ग्रामीणों को मजदूरी का लालच देकर उनसे अवैध खनन करवा रहे हैं। नियमित काम मिलने के चलते ग्रामीण अपना मुंह नहीं खोलते। इतना ही नहीं जो साधन संपन्न ग्रामीण शिकायत करते भी हैं उन्हें झूठे प्रकरण में फंसा देने या जान से मार देने की धमकी देकर चुप करा दिया जाता है।

सशस्त्र माफिया चंबल सेंचुरी टीम पर कर चुके हैं कई बार हमले
अवैध खनन रोकने की कार्यवाही के दौरान सशस्त्र माफिया चंबल सेंचुरी टीम पर कई बार हमले कर चुके हैं। बीते दो वर्ष में तीन बार हमले की शिकायत अटेर थाने में दर्ज है। फिर भी न तो खनन में लिप्त मशीनें और ना ही परिवहन कर रहे वाहन जब्त कर राजसात किए जा सके। माफिया के हौसले इतने बढ़ गए हैं कि अब वह दिन में भी खनन करते देखे जा सकते हैं।

बीहड़ काटकर बनाए रास्ते, खेतों से निकाल रहे वाहन
चंबल सेंचुरी टीम की नाक के नीचे माफिया ने चंबल नदी के कई घाटों पर बीहड़ के टीले काटकर रेत परिवहन के लिए रास्ते बना लिए हैं। इतना ही नहीं माफिया अपने रेत से भरे वाहन क्षेत्रीय किसानों के खेतों से होकर जबरन निकाल रहे हैं। खिपोना के ग्रामीणों द्वारा अवैध रेत खनन को लेकर चंबल सेंचुरी अधिकारी तथा कलेक्टर तक से शिकायत की लेकिन खनन पर अंकुश नहीं लग पाया।

चंबल के रेत से भरे ट्रकों को पकडकऱ चंबल सेंचुरी टीम के सुपुर्द कर दिए गए हैं। अवैध रेत परिवहन पर प्रभावी अंकुश लगाने लिए प्रभावी कार्यवाही की जाएगी।
संजय सोनी, नगर निरीक्षक फूप