स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इस नक्षत्र में सब कुछ खरीदना है शुभ

Rajeev Goswami

Publish: Oct 22, 2019 11:11 AM | Updated: Oct 21, 2019 22:51 PM

Bhind

बाजार में मंदी पर भारी दिखा लोगों में उत्साह, दुकानदारों के चेहरों पर दिखी चमक

भिण्ड. सोम पुष्य नक्षत्र 21 अक्टूबर दोपहर 1:39 से शुरू हो गया था जो 22 अक्टूबर को दोपहर 3:38 बजे तक रहेगा। इस बार दो दिन पुष्य नक्षत्र होने के कारण दुकानों पर खरीदारों की भीड़ नजर आ रही है। सोना, चांदी खरीदने के अलावा लोग पुस्तक, बही खाते, धार्मिक वस्तु, गृह सजावट का सामान, सोफा, वाहन आदि जमकर खरीद रहे हैं।

दो दिन तक खरीदारी के लिए विशेष मुहूर्त में खरीदी गई वस्तु अधिक समय तक उपयोगी, शुभ फल देने वाली और अक्षय मानी जाती है। पुष्य नक्षत्र में स्वर्ण खरीदने का प्रचलन इसलिए है क्योंकि इसे शुद्ध, पवित्र और अक्षय धातु के रूप में माना जाता है।

पुष्य नक्षत्र पर इसकी खरीदी अत्यधिक शुभ होती है। दीपावली के पूर्व आने वाला पुष्य नक्षत्र विशेष होता है। इस नक्षत्र में वाहन, भवन, भूमि और बहीखाते खरीदना भी शुभ होता है। इस दिन मंदिर निर्माण, घर निर्माण आदि काम भी प्रारंभ किए जाते हैं। इस दिन पूजा या उपवास करने से जीवन के हर एक क्षेत्र में सफलता की प्राप्ति होती है। सर्वप्रथम अपने घरों में सूर्योदय एवं सूर्यास्त के समय मां लक्ष्मी के सामने घी से दीपक जलाएं।

इस खाद्य पदार्थों का सेवन माना जाता है शुभ: पुष्य नक्षत्र के दौरान दाल, खिचड़ी, चावल, बेसन, कड़ी, बूंदी के लड्डू आदि का सेवन भी किया जाता है और क्षमतानुसार दान भी कर सकते हैं। इसके अलावा पुष्य नक्षत्र में दिव्य औषधियों को लाकर उनकी सिद्धि की जाती है। इस दिन कुंडली में विद्यमान दूषित सूर्य के दुष्प्रभाव को घटाया जा सकता है।

हर सेक्टर में दिखी रौनक

इस बार दो दिन के पुष्य नक्षत्र के चलते न सिर्फ भिण्ड शहर में बल्कि जिले के मेहगांव, गोहद, फूप, मिहोना एवं लहार जैसे छोटे नगरों में भी इलेक्ट्रीकल, सराफा एवं ऑटो मोबाइल दुकानों पर खरीदारों की खासी भीड़ देखी गई। मंदी के बावजूद दीपावली पर पुष्य नक्षत्र भारी रहा। झालर, रोशनी, रेडीमेड वस्त्र तथा बर्तनों की दुकानों पर खासे खरीदार नजर आ रहे हैं। व्यवसासियों की मानें तो दीपावली के बाजार पर मंदी का कोई असर नजर नहीं आ रहा है। अपेक्षा के अनुरूप खरीदारी हो रही है।

-पुष्य नक्षत्र में सभी सामान की खरीदारी शुभ माने जाने के चलते बाजार पर मंदी का असर कम ही नजर आएगा।

पंडित अनुराग मिश्रा ’योतिर्विद भिण्ड