स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

6 साल पहले पिता पर हुआ था हमला, इस बार मां-बेटे की गर्दन काट कर की हत्या

Gaurav Sen

Publish: Jul 12, 2019 19:41 PM | Updated: Jul 12, 2019 19:41 PM

Bhind

सेंवढ़ा में डबल मर्डर से सनसनी

सेंवढ़ा. सेंवढ़ा के इंदिरा गांधी वार्ड क्रमांक दो में गुरुवार शाम मां-बेटे की घर में लाश बरामद की गई। मृतकों के शरीर पर धारदार हथियार के निशान मिले हैं। इससे संभावना है कि उनकी हत्या की गई है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

शिक्षक बृजमोहन तिवारी की पत्नी राधा देवी (50) और पुत्र शैलेंद्र कुमार तिवारी (22) की लाश बरामद की गई। शिक्षक शासकीय माध्यमिक विद्यालय क्रमांक एक में पदस्थ है। मामले का खुलासा उस समय हुआ जब बृजमोहन शाम करीब 4.30 बजे अपने घर पहुंचे। जब वह घर के अंदर पहुंचे तो पत्नी और बेटे की खून से लथपथ लाश पड़ी थी। उन्होंने इसकी सूचना डायल-100 को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर मां बेटे के शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेजा। हत्या की वारदात को किसने और क्यों अंजाम दिया इसका खुलासा अभी नहीं हो सका है।

एक घंटे तक नहीं आई 108 एंबुलेंस
बृजमोहन तिवारी ने घर पहुंच कर जैसे ही पत्नी व बेटे को घायल अवस्था में देखा तो सबसे पहले 108 एम्बुलेंस को सूचना दी। सूचना के बाद भी एक घंटे तक एम्बुलेंस मौके पर नहीं पहुंची तो उन्होने डायल 100 को सूचना दी। सूचना पर डायल 100 शैलेंद्र और राधा को लेकर अस्पताल पहुंची जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

पूर्व में हो चुका है हमला
गुरुवार को इंदिरा गांधी वार्ड क्रमांक दो (परिहार मुहल्ले) में हुए दोहरे हत्याकांड से पहले परिवार के मुखिया बृजमोहन तिवारी पर भी हमला हो चुका है। शिक्षक पर यह हमला छह साल पहले हुए था। हमलावर कौन थे और हमला किन कारणों की वजह से किया गया था यह छह साल बाद भी स्पष्ट नहीं हो सका है। दोहरे हत्याकांड का मामला संदिग्ध है। घटना स्थल के सामने ही सात मजदूर काम कर रहे थे। इस दौरान कौन अज्ञात लोग हत्याकांड को अंजाम दे गए इसका देर शाम तक खुलासा नहीं हो सका था। मामले की तह तक पहुंचने के लिए पुलिस की एफ एस एल टीम भी जांच में जुट गई है। खबर लिखे जाने तक पुलिस ने नाकाबंदी करने के साथ आसपास के लोगों से पूछताछश् ाुरू कर दी थी। पुलिस अधीक्षक डी कल्याण चक्रवर्ती भी सेंवढ़ा रवाना हो गए थे।

घर में चल रहा हैनिर्माण कार्य

कुछ दिन पहले शिक्षक बृजमोहन शर्मा जिस मकान में रहते हैं उसके सामने ही उनका एक और मकान है। इस मकान में वर्तमान में निर्माण कार्य चल रहा है। निर्माण कार्य के लिए शिक्षक ने वार्ड क्रमांक एक सेंवढ़ा निवासी हरीमोहन पुत्र आशाराम विश्वकर्मा को ठेका दिया है। घटना की जानकारी जैसे ही मोहल्ले के लोगों को मिली सनसनी फैल गई। कुछ ही देर में मृतक के घर के पास लोगों की भीड़ जमा हो गई। बृजमोहन तिवारी की पत्नी व बेटे की हत्या से पहले उन पर भी 10 जून 2013 को हमला हुआ था। हमला रात के समय हुआ था।

हमलावरों ने उन पर चाकू से हमला करने के साथ गोली भी चलाई थी। मामले में पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया था लेकिन आरोपी अब तक बेसुराग हैं। बृजमोहन तिवारी स्कूल से शाम करीब 4.30 बजे घर पहुंचे। उन्हें मजदूरों ने बताया, वह कई बार पानी मांगने के लिए दरवाजा खटखटा चुके हैं लेकिन दरवाजा नहीं खुला। मजदूरों से जानकारी मिलने पर बृजमोहन जब अंदर पहुंचे तो उन्हें पत्नी व बेटे का शव पड़ा मिला।

मामले की जांच शुरू कर दी है। एफ एस एल टीम भी आ रही है।हम शिक्षक बृजमोहन से बातचीत कर रहे हैं और सर्चिंग चालू कर दी है
नरेंद्र सिंह गेहरवार एसडीओपी सेंवढ़ा