स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अजब व गजब मॉडल नजर आए साइंस मॉडल प्रदर्शनी में

Narendra Kumar Verma

Publish: Oct 15, 2019 22:20 PM | Updated: Oct 15, 2019 22:20 PM

Bhilwara

संगम यूनिवर्सिटी व अरावली विज्ञान समिति संस्थान की ओर से जिले के कक्षा 8 से 12 के विद्यार्थियों के लिए मॉडल प्रदर्शनी, पोस्टर प्रस्तुतीकरण व विज्ञान क्विज संगम यूनिवर्सिटी में हुआ। शुरुआत वीसी डॉ. केपी यादव ने की। रजिस्ट्रार डॉ. ओपी गुप्ता, विज्ञान भारती संरक्षक पुरुषोत्तम परांजपे व जिला सचिव सुनील पोरवाल ने दीप प्रज्वलन किया। प्रतियोगिता में राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय बापूनगर की प्राथमिक शाखा के बच्चों ने भी शिक्षिका लक्ष्मी शर्मा के मार्ग निर्देशन में बेहतरीन सांइस मॉडल प्रस्तुत किए।

भीलवाड़ा। संगम यूनिवर्सिटी व अरावली विज्ञान समिति संस्थान की ओर से जिले के कक्षा 8 से 12 के विद्यार्थियों के लिए मॉडल प्रदर्शनी, पोस्टर प्रस्तुतीकरण व विज्ञान क्विज संगम यूनिवर्सिटी में हुआ। शुरुआत वीसी डॉ. केपी यादव ने की। रजिस्ट्रार डॉ. ओपी गुप्ता, विज्ञान भारती संरक्षक पुरुषोत्तम परांजपे व जिला सचिव सुनील पोरवाल ने दीप प्रज्वलन किया। प्रतियोगिता में राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय बापूनगर की प्राथमिक शाखा के बच्चों ने भी शिक्षिका लक्ष्मी शर्मा के मार्ग निर्देशन में बेहतरीन सांइस मॉडल प्रस्तुत किए।

प्रतियोगिता में प्रथम रहे महेश शिक्षा सदन सीनियर सैकंडरी स्कूल ११वीं के छात्र अमन जयसवाल को 5100 रुपए, द्वितीय रहे महेश शिक्षा सदन के वैभव सोनी को 3100 व तृतीय रही डॉ. बीआर अंबेडकर बालिका स्कूल आटूण की छात्रा लक्ष्मी को 2100 रुपए का पुरुस्कार दिया गया। पोस्टर प्रेजेंन्टेशन में प्रथम रही सेठ मुरलीधर मानसिंहका बालिका सीनियर सैकंडरी स्कूल की छात्रा दीपाली हाड़ा को 3100 रुपए, द्वितीय रहे राजेंद्र मार्ग विद्यालय के अनुनय शर्मा ने 2100 एवं तृतीय रहे राउमावि माण्डल के भरत कुमावत को 2100 रुपए का पुरुस्कार दिया गया।

प्रश्नोत्तरी में प्रथम रहे स्वामी विवेकानंद मॉडल स्कूल सुवाणा के अंशुल सोनी को 2100 रुपए, द्वितीय रहे न्यू लुक सेंट्रल स्कूल के अमोल अरोड़ा को 2100 तथा तृतीय रहे न्यू लुक सेंट्रल स्कूल के मनन जैन ने 1100 रुपए का पुरुस्कार दिया गया। समापन सत्र के मुख्य अतिथि कोटा विवि के पूर्व कुलपति प्रो. एमएल कालरा एवं विज्ञान भारती के प्रांतीय अध्यक्ष डॉ एनएल हेड़ा ने सभी प्रतिभागियों को पुरस्कार दिए।