स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

राजसमंद हादसा: एक साथ उठी आठ अर्थियां, कंधे देने वालों की कांप गई रूह, हर तरफ पसरा सन्नाटा

kamlesh sharma

Publish: Aug 24, 2019 16:00 PM | Updated: Aug 24, 2019 16:00 PM

Bhilwara

Rajsamand desuri Accident: राजसमंद जिले के देसूरी की नाल पंजाब मोड पर शुक्रवार को हुए दर्दनाक सड़क हादसे ने शनिवार को शाहपुरा कस्बे को रूला दिया। कस्बे में रहने वाले दो परिवार के आठ जनों की एक साथ अर्थियां सुबह उठी तो हर आंखें नम हो गई।

शाहपुरा (भीलवाड़ा)। Rajsamand desuri Accident : राजसमंद जिले के देसूरी की नाल पंजाब मोड पर शुक्रवार को हुए दर्दनाक सड़क हादसे ने शनिवार को शाहपुरा कस्बे को रूला दिया। कस्बे में रहने वाले दो परिवार के आठ जनों की एक साथ अर्थियां सुबह उठी तो हर आंखें नम हो गई।

कंधे देने वालों की रूह कांप गई। इस दौरान अंतिम संस्कार में शामिल लोगों की कतार दूर तलकनजर आई। दोपहर तक बाजार बंद रहे। हर तरफ सन्नाटा पसरा रहा। आठों की देह पंचतत्व में विलीन हो गई।

जानकारी के अनुसार शाहपुरा निवासी मुकेश अग्रवाल और पंकज जैन का परिवार गढबोर चारभुजा के दर्शन करने के लिए वैन लेकर गए थे। वहां से शुक्रवार दोपहर में नाकोड़ा जी जा रहे थे। देसूरी की नाल के निकट ओवरटेक के प्रयास में एसिड से भरा टैंकर वैन पर पलट गया।

राजसमंद हादसा: गिरता रहा एसिड, वैन में फंसे चिल्लाते रहे, इनकी हुई मौत

इससे वैन में सवार मुकेश अग्रवाल, उसकी पत्नी ममता, बेटा यश व दर्शिल तथा मुकेश का दोस्त पंकज, उसकी पत्नी संगीता, बेटी अंगना व अनन्या तथा मुकेश के साढू का पुत्र नीमच निवासी जयंत अग्रवाल की मौत हो गई। घटना का पता चलते ही शाहपुरा में शोक की लहर छा गई। देर रात आठ जनों के शव शाहपुरा पहुंचे जबकि जयंत का शव नीमच भेजा।

शाहपुरा में आठों शव सुबह उनके घर पहुंचा। रातभर आंखों में आंसू समेटे बैठे परिजनों के धैर्य के सब्र का बांध टूट गया। आंसूओं का सैलाब उमड़ पड़ा। परिजनों को संभालना भारी पड़ गया।

देसूरी की नाल में एसिड से भरे टैंकर पलटने से तीन बच्चे- दो महिलाओं सहित 9 की Death

सामाजिक रीतिरिवाज के बाद अंतिम संस्कार के लिए शव रवाना हुए। इस दौरान सैकड़ों की संख्या में लोग अंतिम संस्कार में शामिल हुए। सांसद सुभाष बहेडि़या व जिला कलक्टर राजेन्द्र भट्ट समेत कई पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी शाहपुरा पहुंचे। पूरा कस्बा गमजदा था। बाजार बंद रहे।