स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

टफ में 30 तक आवेदन नहीं किया, तो अनुदान नहीं

Suresh Jain

Publish: Sep 15, 2019 04:02 AM | Updated: Sep 14, 2019 20:33 PM

Bhilwara

- देशभर में 8463 मामले लम्बित
- बैंकों के माध्यम से आवेदन का अंतिम मौका

भीलवाड़ा।
Textile Upgradation Fund टेक्सटाइल मंत्रालय ने टेक्सटाइल अपग्रेडेशन फंड (टफ) के तहत मिलने वाले ब्याज व पूंजीगत अनुदान के लिए उद्यमियों को अंतिम अवसर दिया है। उद्यमी 30 सितम्बर तक दस्तावेज बैंक के माध्यम से आइ-टफ सॉफ्टवेयर में अपलोड नहीं करवाते हैं, तो अनुदान नहीं मिलेगा। वर्तमान में देशभर के लगभग 8463 लम्बित मामलों के करीब छह हजार करोड़ का अनुदान बाकी है। इनमें मुख्य रूप से एम-टफ, आर-टफ तथा आरआर-टफ योजना के मामले हैं।

Textile Upgradation Fund टेक्सटाइल आयुक्त ने सभी प्रमुख औद्योगिक संगठनों को पत्र लिखा है कि जिन उद्यमियों का टफ अनुदान बकाया है। उनके लिए आइ-टफ सॉफ्टवेयर जून में लॉन्च किया गया था। इसके माध्यम छह प्रकार के दस्तावेज अपलोड करने हैं। पत्र में कहा गया है कि 8463 प्रकरणों में से बैंकों के पास 3399 दस्तावेज पहुंचे हैं। इनमें से 151 के दस्तावेज बैंकों ने अपलोड कर दिए हैं।

टफ अनुदान का निस्तारण का निर्णय
Textile Upgradation Fund टेक्सटाइल मंत्रालय व वित्त मंत्रालय की बैठक में निर्णय किया गया था कि टेक्सटाइल सेक्टर में लम्बित अनुदान के मामले का निस्तारण किया जाए। सभी बैंकों को उद्यमियों से दस्तावेज लेकर 30 सितम्बर शाम 6 बजे तक अपलोड करने के निर्देश दिए हैं। इसके सॉफ्टवेयर बन्द होने पर दस्तावेज पर विचार नहीं किया जाएगा।

भीलवाड़ा के उद्यमियों के अटके हैं 200 करोड़
भीलवाड़ा के करीब ५० उद्यमियों का करीब 200 करोड़ रुपए का टफ अनुदान अटका हुआ है। मंत्रालय का जेआइटी संयुक्त जांच दल टफ अनुदान के लिए औद्योगिक मशीनों का सत्यापन भी करता है। इस दल में मंत्रालय के क्षेत्रीय अधिकारी नोयड़ा, जिला उद्योग केन्द्र का प्रतिनिधि, निटरा पावरलूम सेंटर प्रतिनिधि तथा औद्योगिक संस्थान प्रतिनिधि शामिल है। सत्यापन रिपोर्ट के बाद ही अनुदान मिलता है। भीलवाड़ा में दजनों इकाइयों की संयुक्त जांच हो चुकी है, लेकिन अनुदान नहीं मिला है। टफ अनुदान नहीं मिलने से कई उद्यमी नई मशीनें नहीं खरीद पा रहे हैं।

अवगत करवा दिया उद्यमियों को
टेक्सटाइल मंत्रालय से मिले पत्र के बारे में टफ योजना से जुड़े उद्यमियों को अवगत करवा दिया है। उन्हें 20 सितम्बर तक छह तरह के दस्तावेज अपने सम्बन्धित बैंक में देने को कहा है। 30 सितम्बर बाद परेशानी आ सकती है।
आरके जैन, महासचिव, मेवाड़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स