स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दुग्धदान करने वाली महिलाओं को मिलेगा परिवहन खर्च

Suresh Jain

Publish: Aug 24, 2019 12:00 PM | Updated: Aug 24, 2019 12:00 PM

Bhilwara

महात्मा गांधी चिकित्सालय परिसर स्थित आंचल मदर मिल्क बैंक में प्रतिदिन बच्चों को पिलाया जाता दुग्ध

भीलवाड़ा।
Aanchal Mother Milk Bank दुग्ध दान करने वाली महिलाओं को अस्पताल आने के लिए अब अपने पास से पैसा खर्च नहीं करना पड़ेगा। मेडिकल रिलीफ सोसायटी या स्वयंसेवी संगठन की मदद से यह खर्चा वहन किया जाएगा। दुग्धदान करने वाली महिलाआें का सम्मान भी किया जाएगा। यह निर्णय हाल ही में प्रमुख चिकित्सा अधिकारी व आंचल मदर मिल्क के पदाधिकारियों के की बैठक में हुआ। राजस्थान में सर्वाधिक दुग्धदान करने वाली मांडल की रक्षा जैन के सुझाव पर यह नवाचार किया जा रहा है। इस पर अन्तिम निर्णय मेडिकल रिलीफ सोसायटी की बैठक में होगा। महात्मा गांधी चिकित्सालय की दीवारों पर चित्रकारी की जाएगी।

https://www.patrika.com/barmer-news/aanchal-mother-milk-bank-in-barmer-3137977/

Aanchal Mother Milk Bank महात्मा गांधी चिकित्सालय परिसर स्थित आंचल मदर मिल्क बैंक में प्रतिदिन ऐसे बच्चों को दुग्ध पिलाया जाता है, जिसकी मॉ के दूध नहीं हो रहा हो। इसके लिए शहर से सटे पांसल गांव की सोनू शर्मा गत १० दिसम्बर से यहां आ रही है। कई बार परिवहन की सुविधा नहीं मिलने पर वह दुग्ध दान करने बैंक नहीं पहुंच पाती है। वह आठ माह से अपने खर्चे से यहां दुग्ध दान करने आ रही है। भीलवाड़ा की रक्षा जैन २० जून २०१८ से अब तक ५० लीटर से अधिक दुग्ध दान कर चुकी है। वह कभी अपने पीहर मांडल से तो कभी ससुराल भीलवाड़ा से आकर यहां दुग्ध दान करती है। ऐसी कई महिलाएं है जो दुग्ध दान तो करना चाहती है, लेकिन उन्हें साधन नहीं मिलने से मदर मिल्क बैंक तक नहीं पहुंच पाती। इस सम्बन्ध में महिलाओं ने प्रमुख चिकित्सा अधिकारी से सम्पर्क कर यह समस्या उनके सामने रखी। इसके बाद परिवहन सुविधा उपलब्ध कराने का निर्णय किया गया।

महात्मा गांधी अस्पताल की सभी दीवारों पर जल्द ही भित्ती चित्रकारी करवाई जाएगी। जिला प्रशासन और नगर विकास न्यास के सहयोग से अस्पताल की सभी सड़कों का निर्माण कराया जाएगा। आंचल मदर मिल्क बैंक में दुग्ध दान करने वाली महिलाओं को प्रोत्साहन देने के लिए अब परविहन खर्च की सुविधा दी जाएगी।
डा. अरूण गौड़, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी, एमजी अस्पताल