स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मजिस्‍ट्रेट से बदसलूकी, जान से मारने की धमकी, एएसआइ से मारपीट, आरोपी गिरफ्तार

Mahesh Kumar Ojha

Publish: Sep 21, 2019 12:00 PM | Updated: Sep 21, 2019 12:00 PM

Bhilwara

शहर के निकट सुवाणा ग्राम न्यायालय में शुक्रवार दोपहर एक व्यक्ति ने पीठासीन अधिकारी (मजिस्टे्रट) के साथ बदसलूकी की। मजिस्ट्रेट व रीडर को जान से मारने की धमकी दी

भीलवाड़ा।

शहर के निकट सुवाणा ग्राम न्यायालय में शुक्रवार दोपहर एक व्यक्ति ने पीठासीन अधिकारी (मजिस्टे्रट) के साथ बदसलूकी की। मजिस्ट्रेट व रीडर को जान से मारने की धमकी दी। इस पर अदालत ने सदर थाना पुलिस को बुलाया। आरोपी ने पुलिसकर्मियों से धक्का-मुक्की व मारपीट की। मारपीट में एएसआइ को चोटें आई। पुलिस आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। उसके खिलाफ कोर्ट रीडर की ओर से राजकार्य में बाधा, अदालत की गरिमा को ठेस पहुंचाने व पुलिसकर्मियों से मारपीट के दो मामले दर्ज किए गए।

थानाप्रभारी कृष्णकुमार चौधरी ने बताया कि चन्द्रशेखर आजादनगर निवासी जिग्नेश समदानी मारपीट के मामले में राजीनामे के लिए दोपहर में सुवाणा ग्राम न्यायालय पहुंचा। वहां किसी मामले में सदर थाने के कांस्टेबल गजेन्द्र सिंह के बयान हो रहे थे। जिग्नेश ने बयानों में बाधा पहुंचाई। इस पर ग्राम न्यायालय न्यायाधीश प्रवीण चौधरी ने आपत्ति जताई, तो वह बदसलूकी करने लगा। उसके साथ उसकी पिता और पत्नी भी थे। परिजनों और वकीलों के समझाने के बाद भी जिग्नेश अपशब्द बोलते हुए हंगामा करता रहा।
कार्रवाई करने पर दी जान से मारने की धमकी

जिग्नेश ने मजिस्ट्रेट से कहा कि उसके खिलाफ कोई कार्रवाई की गई, तो वह बाहर निकलने पर जान से मार देगा। उसने रीडर नेमीचंद रेगर को भी धमकाया। अदालत में अधिवक्ता और अन्य लोग भी मौजूद थे। सदर थाने से सहायक उपनिरीक्षक राजमल कुमावत जाप्ते के साथ वहां पहुंचे। जिग्नेश को हिरासत में लेने का प्रयास करने पर उसने पुलिसकर्मियों से धक्का-मुक्की की। आरोपी ने कुमावत के मुंह पर मुक्का मारा। इससे उनको चोट आई। पुलिस बमुश्किल आरोपी को थाने ले गई।