स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

हौसले की उड़ान को चाहिए दोनों पंख

Suresh Jain

Publish: Jan 24, 2020 11:15 AM | Updated: Jan 24, 2020 11:15 AM

Bhilwara

प्री बजट : आधी आबादी को राज्य बजट से बड़ी आस

भीलवाड़ा।
Pre budget 2020 राजस्थान के अगले माह आने वाले बजट को लेकर महिला वर्ग को बड़ी उम्मीदें हैं। राजस्थान पत्रिका ने गुरुवार को विभिन्न महिला संगठनों से बजट पर चर्चा की। महिलाओं ने शिक्षा, चिकित्सा, कानून व्यवस्था, महंगाई पर काबू पाने को लेकर विशेष ध्यान देने की बात कही। एक वक्ता ने गृहस्थी की तुलना पक्षी से की और इसके दोनों पंख दंपती को माना। कहा-जिस तरह पक्षी को उडऩे को दोनों पंख फैलाने पड़ते हैं, उसी तरह गृहस्थी की गाड़ी दोनों मिलकर खींचे तभी मुकाम तक पहुंचेगी।

आईना
Pre budget 2020 बढ़ती महंगाई पर काबू पाने के लिए सरकार को ठोस कदम उठाने होंगे। मध्यम वर्ग के लिए हर वस्तु महंगी होने से रसोई का बजट बिगड़ गया है। महिलाओं को रोजगार तक नहीं मिल रहा है।

अपेक्षा
इस बजट से हर किसी को कई अपेक्षाएं है। चाहे केन्द्र का बजट हो या राजस्थान का। हर विभाग में नई भर्तिया हों। बजट में प्रत्येक तहसील स्तर सभी तरह की सुविधा मिले। ऐसी अपेक्षाए है।

संभावना
बेरोजगारी दूर करने को कदम उठाने होंगे। बालिकाओं की उच्च शिक्षा दिलानी होगी। सभी बेरोजगारों को समान अवसर मिले, इसके लिए प्रदेश में व्यवस्था की करनी होगी।
..........

मंदी की बात
घर का बजट नहीं बिगड़े। रसोई व रोजमर्रा की खाद्य व अन्य उपयोगी चीजों के दाम कम हों। पूजा सामग्री, महिला सौंदर्य प्रसाधन सस्ते हों। महिलाओं के स्वास्थ्य व सुरक्षा पर योजना बने। विशेषकर देहात की महिलाओं के लिए योजनाएं बने।

...................
मेरी बात
राज्य बजट से कई उम्मीदें है। महिला उत्पीडऩ व घरेलू हिंसा को रोकने को सरकार सख्त कदम उठाएं। महिलाओं को शिक्षा से जोडऩे के लिए सरकार को बजट बढ़ाना चाहिए। चिकित्सा क्षेत्र को और मजबूत करना होगा। आज भी गरीबों को पूरा उपचार नहीं मिल रहा है।
शोभिका जागेटिया

.............
निजी शिक्षण संस्थाओं की बढ़ती फीस पर अंकुश लगाने के लिए सरकार को कानून बनाना चाहिए। ताकि मध्यम परिवार का बच्चा भी अच्छी शिक्षा प्राप्त कर सके।
दीपिका नंदावत
...........
घरेलू महिला की प्राथमिकता है रसोई। अभी सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं। रसोई गैस की कीमतें भी नियंत्रण में रहनी चाहिए। दालें, लहसुन, प्याज हर चीज के दाम बढ़े हैं। डीजल-पेट्रोल के बढ़ते दामों की वजह से बच्चों को स्कूल भेजने तक का खर्च बढ़ गया है। मुख्यमंत्री से महिलाओं को बड़ी आशा है।
अंकिता कोगटा

..................
छोटे बच्चों से अत्याचार की घटनाएं बढ़ रही है। अपराधियों में खौफ पैदा करने के लिए फांसी की सजा मिलनी चाहिए। सरकार महंगाई पर काबू पाए। ऑनलाइन खरीदारी से परम्परागत बाजार के सामने संकट से छोटे व्यापारियों को बाहर निकालने को कुछ न कुछ उपाय होने चाहिए।
संजना सोनी
..............

प्रदेश में जितने भी बाहरी लोग आए हैं। उन पर सरकार बजट खर्च न कर गरीब तबके के लोगों पर ध्यान देना चाहिए। बजट में महिला सुरक्षा के मुद्दों पर ध्यान देने की जरूरत है। बेहतर व्यवस्था पर खर्च करना चाहिए।
मधु शर्मा, जिलाध्यक्ष भारत तिब्बत सहयोग मंच

..............
महिलाओं को रोजगार व समय पर ऋण मिले ताकि खुद का व्यापार शुरू कर सके। हर कामयाब पुरुष के पीछे महिला का हाथ होता है, लेकिन अब महिलाएं उनके साथ खड़ी होकर उद्योग व व्यापार करें। एक पंख से पक्षी उड़ नहीं सकता। दोनों पंख (महिला व पुरुष) होंगे तो अच्छी उड़ान भर सकेगा। इसके लिए सरकार अलग से बजट दे।
मोनिका माहेश्वरी
.............

बच्चे देश का भविष्य है। उनको पोषाहार सही नहीं मिल रहा। ऐसे में सरकार को पोषाहार का बजट बढ़ाना चाहिए। चिकित्सा व्यवस्था में सुधार हो। जयपुर, उदयपुर अहमदाबाद जैसी सुविधाएं भीलवाड़ा के अस्पताल में क्यों नहीं हो सकती।
मीरा सोनी
.................
योजनाएं बनाना काफी नहीं है। समय से घोषणा पूरा करना भी जरूरी है। अक्सर देखा जाता है कि बजट घोषणाएं पूरा होने में लंबा समय लगता है। उम्मीद है कि इस बजट के अच्छे प्रावधान समय से लागू होंगे। शिक्षा और मेडिकल क्षेत्र में बेहतर करने की जरूरत है।
आशा लालवानी
..............

पुलिस थानों में महिला कर्मी लगाई जाए ताकि कोई भी महिला अपने साथ की घटना की जानकारी आसानी से दे सके। पुरुष के सामने कोई भी महिला बोलने से थोड़ी कतराती है। ऐसे में हर थाने में महिला डेस्क होनी चाहिए।
स्वीटी बोहरा

...............
महिलाओं के लिए अलग से बजट का प्रावधान हो। मध्यम वर्ग पर ज्यादा बोझ नहीं बढ़ाया जाए। बजट में लुभावने वादे की जगह प्रेक्टिकल बातों को प्रमुखता से शामिल किया जाए।
आकांक्षा बाहेती

[MORE_ADVERTISE1]