स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अखेगढ़ को मोटरास से निकाला, गरियाखेड़ा में जोडऩे का विरोध

Suresh Jain

Publish: Nov 21, 2019 20:19 PM | Updated: Nov 21, 2019 20:19 PM

Bhilwara

अखेगढ़ को गरियाखेड़ा में जोडऩे पर जताया विरोध

भीलवाड़ा।
Reorganization of Gram Panchayat आसींद के अखेगढ़ के लोगों ने गांव को गरियाखेड़ा पंचायत में जोडऩे का विरोध किया है। ग्रामीणों का कहना है कि अखेगढ़ पहले मोटरास पंचायत में था। अब उसे गरियाखेड़ा में जोड़ा गया जो ६-७ किमी है। मोटरास मात्र तीन किमी है। गरियाखेड़ा जाने के लिए साधन भी नहीं है। ग्रामीणों ने इस सम्बन्ध में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी गोपालराम बिरड़ा को जिला कलक्टर के नाम ज्ञापन दिया।


Reorganization of Gram Panchayat ज्ञापन में ग्रामीणों ने बताया कि बिन उनकी आपत्ति सुने गांव को दूसरी पंचायत में जोड़ दिया है। गरियाखेड़ा पंचायत में गरियाखेड़ा, गोविन्दपुरा, गोपालपुरा व अखैगढ़ को जोड़ा है। गरियाखेड़ा, गोविन्दपुरा, गोपालपुरा सहित ९ ग्राम पहले चतरपुरा पंचायत में थे। अब चतरपुरा पंचायत मेंं मात्र ६ गांव रह गए। ज्ञापन देने के दौरान जगदीश चन्द, लादूराम रेगर, सांवरलाल, प्रकाश चन्द, छगनलाल, दूदाराम गुर्जर, ओमप्रकाश सुथार, नाथुलाल गुर्जर, सुखदेव गुर्जर पारसमल रेगर, जगदीश रेगर सहित दर्जनों ग्रामीण शामिल थे।

[MORE_ADVERTISE1]